depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

सुनील नरेन् ने विश्व कप खेलने का ऑफर ठुकराया

फीचर्डसुनील नरेन् ने विश्व कप खेलने का ऑफर ठुकराया

Date:

आईपीएल 2024 का आधा सफर ख़त्म हो चूका है, 1 जून से वेस्टइंडीज और यूएसए में टी 20 विश्व कप की तैयारियों पर सभी टीमें जुटी हुई हैं. विश्व कप में भाग लेने वाली सभी टीमों के क्रिकेट बोर्ड और सेलेक्टर्स की निगाहें आईपीएल पर लगी हुई हैं क्यों दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग में पाकिस्तान को छोड़कर लगभग सभी देशों के बड़े खिलाडी इस समय भारत में मौजूद है. टीमों के एलान का भी समय नज़दीक आ गया है कई क्रिकेट बोर्ड ऐसे भी हैं जो अपने उन खिलाडियों को विश्व कप स्क्वाड में शामिल करना चाहती है जो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास ले चुके हैं मगर आईपीएल और दुसरे देशों की लीग में धमाकेदार प्रदर्शन कर रहे हैं, इन्हीं में एक खिलाडी हैं वेस्ट इंडीज के सुनील नरेन् हैं जो मौजूदा आईपीएल में प्रचंड फॉर्म में है और अबतक मोस्ट वैल्युएबल प्लेयर बने हुए हैं. सुनील नरेन् वैसे तो अपनी किफायती गेंदबाज़ी के लिए जाने जाते हैं लेकिन इस बार उनका बल्ला भी आग उगल रहा है। सुनील नरेन् की इस प्रचंड फॉर्म को देखते हुए वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड उन्हें विश्व कप की टीम में जगह देना चाहता है.

वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने सुनील नरेन् से आग्रह किया कि वो अपने संन्यास के फैसले को वापस लेकर टी 20 विश्व कप में टीम का नेतृत्व करें क्योंकि इसबार प्रतियोगिता का मुख्य मेज़बान वेस्टइंडीज है. लेकिन पता चला है कि सुनील नरेन् ने बोर्ड के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है यानि उन्होंने विश्व कप में वेस्ट इंडीज टीम का हिस्सा बनने से इंकार कर दिया है. सुनील नरेन् के इस इंकार से वेस्टइंडीयन क्रिकेट फैंस को निश्चित ही झटका लगा है क्योंकि सुनील नरेन् की जो मौजूदा फॉर्म है वो वेस्टइंडीज के लिए एक बड़ा एसेट साबित हो सकती थी.

दरअसल ये पिछले कई बरसों से हो रहा है. वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड और खिलाड़ियों के बीच किसी न किसी बात को लेकर टेंशन बना रहता है, खासकर पैसों को लेकर क्योंकि इस समय वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड सबसे गरीब क्रिकेट बोर्ड है. यही वजह है वेस्टइंडीज के बहुत से बड़े खिलाडी नेशनल टीम से खेलने की जगह फ्रैंचाइज़ी क्रिकेट को प्राथमिकता दे रहे है, यही वजह है की वेस्टइंडीज की टीम सबसे ज़्यादा बदलाव वाली टीम है, लगभग हर साल टीम का कप्तान बदल जाता है क्योंकि किसी भी खिलाड़ी को टीम की कप्तानी करने में कोई दिलचस्पी नहीं है. देखना ये है कि आईपीएल में खेल रहे वेस्टइंडीज के कितने खिलाडियों को नेशनल टीम में मौका मिलता है और कितने खिलाड़ी उस मौके को स्वीकार करते हैं.

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

UP: पांचवे चरण में 37 प्रतिशत उम्मीदवार करोड़पति

उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स...

तीसरे दिन भी बढ़त के साथ खुले बाज़ार

बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का इंडेक्स सेंसेक्स 96...

CAA कानून के तहत पहली बार 14 लोगों को सौंपे गए नागरिकता प्रमाण पत्र

गृह मंत्रालय ने बुधवार को नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के...

मर्यादा के चीरहरण पर क्यों चुप है चुनाव आयोग ?

पारुल सिंहलपांच पांडव कौरवों के साथ द्यूतक्रीड़ा में द्रौपदी...