https://www.themissioncantina.com/ https://safeonline.it/slot-bonus-new-member/ https://www.salihacooks.com/ https://hindi.buzinessbytes.com/slot-bonus-new-member/ https://jalanimports.co.nz/rtp-live https://geetachhabra.com/slot-bonus-new-member/ bocoran slot jarwo https://americanstorageakron.com/ https://test.bak.regjeringen.no/ https://www.cclm.cl/imgCumples/

Recruitment Scams: CBI जांच की मांग को लेकर प्रदर्शन, महिला कांग्रेस का सचिवालय कूंच

उत्तराखंडRecruitment Scams: CBI जांच की मांग को लेकर प्रदर्शन, महिला कांग्रेस का...

Date:

देहरादून। भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच कराने की मांग को लेकर आज युवाओं ने राजधानी देहरादून में प्रदर्शन किया है। प्रदर्शनकारी युवा शहीद स्मारक पर धरने पर बैठे हैं और मामले में सीबीआई जांच की मांग पर अड़े हैं। दूसरी तरफ बीते दिनों बेरोजगार युवाओं पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में महिला कांग्रेस कार्यकर्ता सचिवालय कूच करने पहुंचीं।

​महिला कांग्रेस से तीखी झड़पें

सचिवालय कूच करने जा रही महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी झड़प हुई। पुलिस द्वारा सचिवालय से पहले बैरिकेडिंग लगाकर कार्यकर्ताओं को रोका गया। पथराव और उपद्रव के मामले में बॉबी समेत सात की जमानत पर फैसला फिर एक दिन के लिए टल गया।

पुलिस ने जमानत का विरोध किया और पुलिस अफसरों को अस्पतालों में भर्ती बताते हुए मुकदमे में फिर से आईपीसी की धारा 307 (जानलेवा हमला) शामिल करने की मांग की। बचाव पक्ष के विरोध के बाद अदालत ने बुधवार (आज) तक पुलिस को घायलाें के इलाज के दस्तावेज पेश करने के निर्देश दिए। अब अदालत आरोपियों की जमानत पर बुधवार को फैसला सुनाएगी।

शहीद स्मारक पर डटे प्रदर्शनकारी युवा

सीजेएम लक्ष्मण सिंह की कोर्ट में बॉबी समेत सात की जमानत पर अभियोजन और बचाव पक्ष में जोरदार बहस हुई। आरोपियों के अधिवक्ताओं ने अदालत से जमानत की मांग की। इसके विरोध में अभियोजन की ओर से उपद्रव के दिन के कुछ फोटो, वीडियो और अगले दिन की अखबारों की कटिंग पेश की गई।

अभियोजन की ओर से कहा गया कि पथराव में एसओ प्रेमनगर, एसआई संतोष और सीओ प्रेमनगर आशीष भारद्वाज गंभीर रूप से घायल हैं। इनका सुभारती और दून अस्पताल में इलाज चल रहा है। लिहाजा, पहले काटी गई धारा 307 को भी बढ़ाया जाए।

पुलिस ने अदालत से मांगा समय

इसके संबंध में कोई मेडिकल रिपोर्ट अदालत में पेश नहीं की गई। इसके लिए पुलिस ने वक्त की मांग की। बचाव पक्ष की ओर से इसका विरोध करते हुए कहा गया कि पुलिस इस मामले को जानबूझकर टाल रही है। इससे अनावश्यक रूप से बॉबी समेत सभी युवाओं को जेल में रखा जा रहा है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

सारस को लेकर अखिलेश का फिर भाजपा सरकार पर हमला

अमेठी के रहने वाले मोहम्मद आरिफ से सारस पक्षी...

राहुल गांधी की संसद सदस्यता समाप्त, नहीं लड़ पाएंगे 2024 का लोकसभा चुनाव

नई दिल्ली। राहुल गांधी की संसद सदस्यता समाप्त कर...

Data Leak का भंड़ाफोड़, सात लोगों ने 16.8 करोड़ अकाउंट से चोरी किया डाटा

नोएडा। सोशल मीडिया पर देश के सबसे बडे़ डाटा...