depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

जनवरी-मार्च में घटी नए मकानों की डिमांड

फीचर्डजनवरी-मार्च में घटी नए मकानों की डिमांड

Date:

लगातार बूम कर रहे रियल एस्टेट में अब धीमापन आया है, देश के आठ प्रमुख शहरों में हाई डिमांड के बावजूद जनवरी-मार्च में आवासीय संपत्तियों की नई इकाइयों की सप्लाई 15 प्रतिशत गिरकर 69,143 यूनिट रह गई। आठ प्रमुख शहरों की पहली बिक्री में नई आवासीय संपत्तियों की आपूर्ति से जुड़े आंकड़ों के मुताबिक, नई घरों की आपूर्ति बेंगलुरु और मुंबई में बढ़ी, लेकिन दिल्ली- एनसीआर, चेन्नई, हैदराबाद, पुणे, कोलकाता तथा अहमदाबाद मेंगिरावट आई।

रियल एस्टेट सलाहकार कुशमैन एंड वेकफील्ड के जारी आंकड़ों के मुताबिक जनवरी-मार्च तिमाही में आवासीय संपत्तियों की कुल सप्लाई में की हिस्सेदारी 34 प्रतिशत रही। चालू तिमाही में सभी तरह के डेवलपर्स की हिस्सेदारी 38 प्रतिशत से ज्यादा रही। आंकड़ों के मुताबिक जनवरी-मार्च 2024 में आवासीय संपत्तियों की नई सप्लाई एक साल पहले की समान अवधि में 81,167 यूनिट से घटकर इस साल 69,143 यूनिट रह गई।

आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक वर्ष में मंहगे और लग्जरी मकानों की मांग में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। हाल के एक रिपोर्ट में सामने आया है कि देश के आठ प्रमुख शहरों में घरों की मांग बढ़ने से पिछले दो सालों में घरों की कीमतों में औसतन 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इन आठ शहरों में बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली-एनसीआर, अहमदाबाद, मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन (एमएमआर), हैदराबाद, कोलकाता और पुणे शामिल हैं। दिल्ली-एनसीआर, बेंगलुरु और कोलकाता में 2021 की तुलना में 2023 में घरों की औसत कीमतों में सर्वाधिक 30 प्रतिशत की औसत वृद्धि देखी गई है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

चुनाव आयोग को वोटिंग डेटा और वीवीपैट की पर्चियों के मिलान के दस आवेदन मिले

चार राज्यों के लोकसभा और विधानसभा चुनाव के नतीजों...

NCERT ने 12वीं की बुक से हटाई अयोध्या से जुड़ी कई डिटेल्स, मचा हंगामा

एनसीईआरटी की कक्षा 12 की राजनीति विज्ञान की पाठ्यपुस्तक...

पेपर लीक को रोकने में पीएम मोदी असमर्थ हैं: राहुल गाँधी

नीट पेपर लीक पर हमला करते हुए कांग्रेस के...