depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

आखिर लड़के ही पहले क्यों करते है प्रपोज , जानिए कारण

रिलेशनशिपआखिर लड़के ही पहले क्यों करते है प्रपोज , जानिए कारण

Date:

आज लड़कियां हर क्षेत्र में लड़कों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं। वह अपने अधिकारों के लिए जमकर संघर्ष कर रही हैं. लेकिन कुछ चीजों में वह खुद को लड़कों से पीछे रखकर संतुष्ट हैं। उदाहरण के तौर पर प्यार में सबसे पहले इजहार करने की ही बात लीजिए. इस आधुनिक युग में भी लड़कों को ये सौभाग्य कम ही मिलता है कि कोई लड़की उनके सामने घुटनों के बल बैठकर उनसे अपने दिल की बात कह सके।

हालांकि इसमें लड़कियों को पूरी तरह से दोषी नहीं ठहराया जा सकता, क्योंकि समाज में कहीं न कहीं ये बात पक्की हो चुकी है कि प्रपोज करने की जिम्मेदारी सिर्फ लड़कों को ही लेनी चाहिए। हालांकि अब धीरे-धीरे लड़कियां भी अपनी पसंद के लड़के को प्रपोज करने लगी हैं, लेकिन कुछ ऐसे कारण हैं जो उन्हें ऐसा करने से पहले हजार बार सोचने पर मजबूर कर देते हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं, जिनकी वजह से लड़कियां लड़कों को पहले प्रपोज नहीं करतीं।

वांछित महसूस करना चाहता है

कई अध्ययनों के आंकड़े भी इस तथ्य की पुष्टि करते हैं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं को डेट पर जाने के लिए पूछे जाने की संभावना अधिक होती है। प्रपोज़ करने पर भी यही तर्क लागू होता है।

यह बात लड़कियों को यह एहसास दिलाती है कि उनके कई प्रशंसक हैं जो उनकी ओर हाथ फैलाने का इंतजार कर रहे हैं। इसमें कोई शक नहीं कि हर कोई ऐसा महसूस करना चाहता है। हालांकि कई लड़कियां इसे कहीं न कहीं प्राथमिकता के तौर पर देखती हैं, जिसके कारण वे कभी भी लड़कों को पहले प्रपोज नहीं करतीं।

रिजेक्शन का सामना नहीं करना पड़ेगा

प्यार में ठुकराए जाने का डर किसे नहीं होता. लेकिन लड़कियां इस चेहरे से गुज़रना बिल्कुल भी उचित नहीं समझती हैं। इनके लिए प्यार में अस्वीकृति एक सदमे की तरह होती है, जिससे बाहर आने में इन्हें काफी समय लग जाता है। इसके साथ ही उन्हें खुद का महत्व भी कम महसूस होने लगता है।

छोड़े जाने का डर

लड़कियां प्रपोज करने से बचती हैं क्योंकि उन्हें हमेशा डर रहता है कि लड़का उनकी इज्जत नहीं करेगा और हर बात पर छोड़ देने की धमकी देता रहेगा।

कई बार तो ये भी सुनना पड़ता होगा कि तुमने ही मुझे प्रपोज किया था, मैं तुम्हारे पास नहीं आया…. सिर्फ यही सब सोचकर लड़कियां प्रपोज करने की हिम्मत नहीं जुटा पाती हैं। उन्हें लगता है कि एक बार जब वे प्यार में पड़ गए तो उन्हें अपने रिश्ते में हमेशा झुकना पड़ेगा।

बोल्ड का टैग मिलता है

जो लड़कियां अपने पसंद के लड़के को प्रपोज करने से नहीं हिचकिचाती, लोग उन्हें बोल्ड और आसानी से मिलने वाली लड़की मानते हैं। जाहिर है कोई भी लड़की अपने लिए इस तरह की सोच बर्दाश्त नहीं करेगी, इसलिए लड़कियां इशारों में ही अपने प्यार का इजहार करना उचित समझती हैं।

हताश लगता है

सदियों से लड़के ही लड़कियों को प्रपोज करते आए हैं। ऐसे में अगर लड़का अपनी पसंदीदा लड़की के लिए पागलों की तरह कोशिश करता है तो इसे रोमांटिक कहा जाता है। लेकिन अगर लड़कियां ऐसा कुछ करती हैं तो उन्हें हताश करार दिया जाता है।

इतना ही नहीं चरित्रहीन जैसे शब्दों का भी इस्तेमाल किया जाता है. यही सब सोचकर लड़कियां अपने सपनों के राजकुमार के सामने जाकर भी अपनी भावनाएं बताने का जोखिम नहीं उठातीं।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

नेपाल ने भी लगाया एवरेस्ट और MDH मसलों पर पाबन्दी

भारत के दो सबसे मशहूर मसाला ब्रांड एवरेस्ट और...

पीएम मोदी ने वाराणसी से तीसरी बार किया नामांकन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को गंगा के तट...