depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Nagaland-Tripura-Meghalaya Result: कौन होगा मुख्यमंत्री, कैसी होगी सरकार, किसको कितना फायदा

नेशनलNagaland-Tripura-Meghalaya Result: कौन होगा मुख्यमंत्री, कैसी होगी सरकार, किसको कितना फायदा

Date:

नई दिल्ली। मेघालय, नगालैंड और त्रिपुरा विधानसभा चुनावों के नतीजे अब साफ हो गए हैं। नगालैंड और त्रिपुरा में भाजपा गठबंधन पूर्ण बहुमत हासिल करके सरकार बनाने की तैयारी में है। जबकि मेघालय में भाजपा की पुरानी सहयोगी एनपीपी बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। यहां भाजपा सरकार का हिस्सा बन सकती है।
चुनावी नतीजों के बाद सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर इन राज्यों में अगला मुख्यमंत्री कौन? पुराने चेहरों को फिर से विश्वास किया जाएगा या फिर किसी नए चेहरे को राज्य की कमान सौंपी जाएगी।


माणिक साहा होंगे रिपीट मोदी और अमित कर चुके हैं एलान

2018 में त्रिपुरा में पहली बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रहे बिप्लब कुमार देब को मुख्यमंत्री बनाया था। हालांकि, अभी हाल में चुनाव से कुछ महीनो पहले बिप्लब देब की जगह माणिक साहा को सरकार की कमान सौंपी गई। चुनावी रैलियों में पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने साफ किया कि माणिक साहा अगले मुख्यमंत्री होंगे। हालांकि, उपमुख्यमंत्री जिश्नु देब वर्मा चुनाव हार गए हैं। ऐसे में उनकी जगह अब प्रतिमा भौमिक डिप्टी सीएम बनाई जा सकती हैं। प्रतिमा केंद्रीय मंत्री हैं और उन्हें भाजपा ने धानपुर सीट से चुनाव लड़ाया था। प्रतिमा ने 3500 वोटों से चुनाव जीता है। अभी इसकी संभावना कम दिखती है। टिपरा मोथा सरकार का हिस्सा हो सकती है। टिपरा मोथा के मुखिया प्रद्योत देबबर्मा ने भाजपा को समर्थन देने का एलान किया है।


नगालैंड में नेफ्यू रियो को ताज

इस बार नगालैंड की 59 सीटों पर मतदान डाले गए। यहां आकुलुटो सीट से भाजपा प्रत्याशी और निर्वतमान विधायक काजहेटो किन्मी निर्विरोध चुनाव जीत चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी और नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) का नगालैंड में गठबंधन है। इसके तहत एनडीपीपी ने 40 और भाजपा ने 20 सीटों पर प्रत्याशी उतारे थे। कांग्रेस और एनपीएफ अलग-अलग चुनाव लड़े थे। कांग्रेस 23 और एनपीएफ ने 22 सीटों पर चुनाव मैदान में थी।

2018 में यहां विधानसभा के सभी 60 सदस्य सरकार का हिस्सा बनेए थे। मतलब कोई विपक्ष में नहीं था। एनडीपीपी के नेफ्यू रियो मुख्यमंत्री बनाए थे। इस बार भाजपा और एनडीपीपी गठबंधन सीधे तौर पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। कांग्रेस और एनपीएफ को यहां पर झटका लगा है। दोनों पार्टियों ने चुनाव में अपनी पूरानी जमीन भी खो दी है। मुख्यमंत्री की बात करें तो एनडीपीपी के मुखिया नेफ्यू रियो मुख्यमंत्री बन सकते हैं। रियो को भाजपा का समर्थन है। इस चुनाव में जेडीयू के चार, लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के एक उम्मीदवार ने जीत हासिल की है। ऐसे में लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) का विधायक सरकार में शामिल हो सकता है।

मेघालय में कोनराड सीएम

मेघालय में एनपीपी बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। एनपीपी को 25 सीटों पर जीत हासिल हुई है। यूडीपी दूसरी बड़ी पार्टी बनी है। यूडीपी ने 11 सीट जीती हैं। भाजपा को 3 सीटों पर जीत मिली है। एचएसपीडीपी और पीडीपी के दो प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। 2018 से एनपीपी के साथ सरकार में शामिल थे। ऐसे में उम्मीद है कि एक बार फिर से पार्टियों के सहारे एनपीपी के मुखिया कोनराड संगमा मुख्यमंत्री बनेंगे। तृणमूल कांग्रेस ने पांच सीटों पर यहां पर कब्जा जमाया।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

मोदी के बयानों से लग रहा है कि सत्ता जाने वाली है, अखिलेश

प्रधानमंत्री द्वारा हिन्दुओं की संपत्ति को मुसलमानों में बांटे...

कन्नौज के चुनाव की तुलना भाजपा उम्मीदवार ने भारत-पाक मैच से की

उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी...

प्रधानमंत्री मोदी के भाषणों में पाकिस्तान की इंट्री

प्रधानमंत्री मोदी अपना चुनाव प्रचार अभियान विकास के मुद्दे...

केरल में प्रियंका का तूफानी चुनावी दौरा, भाजपा पर वार

केरल में आज कांग्रेस पार्टी महासचिव प्रियंका गाँधी का...