depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

चुनाव नतीजों के रुझान देख शेयर बाज़ार में मचा कोहराम

नेशनलचुनाव नतीजों के रुझान देख शेयर बाज़ार में मचा कोहराम

Date:

लोकसभा चुनाव के नतीजों के रुझानों में खबर लिखे जाने तक भले NDA गठबंधन सरकार बनाते हुए दिख रहा लेकिन शेयर बाज़ार इन रुझानों से बुरी तरह निराश हुआ है और जो सेंसेक्स एग्जिट पोल के अनुमानों पर 2500 अंक की छलांग मार गया था आज सुबह 11 बजे तक 2800 अंकों से ज़्यादा की गिरावट नज़र आ रही है. वहीँ निफ़्टी भी 890 अंक नीचे कारोबार करता हुआ दिखा रहा था. बता दें कि एग्जिट पोल्स NDA को कई चैनलों ने 400 से भी ज़्यादा सीटें दी थी, जिससे बाजार में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी थी और सेंसेक्स-निफ़्टी राकेट की तरह भागे थे.

आज बाजार खुलने से पहले ही रुझान आने शुरू हो गए थे इसलिए जैसे बाजार खुला, वो नीचे की तरफ भागा और जैसे जैसे रुझानों से ये लगने लगा कि नतीजे वैसे नहीं आ रहे हैं जैसे के एग्जिट पोल्स के अनुमानों में दिखाई दिया था, बाजार में गिरावट बढ़ती गयी. खबर लिखे जाने तक ये गिरावट और भी बढ़ गयी है , निफ़्टी में गिरावट एक हज़ार से भी ज़्यादा अंकों की हो गयी है वहीँ सेंसेक्स 3200 अंक नीचे चला गया. सभी सेक्टोरल इंडेक्स धराशायी हैं. निफ़्टी बैंक, स्माल कैप, मिड कैप, कैपिटल गुड्स, मेटल, आयल एंड गैस और पीएसई में 4 से लेकर 11 प्रतिशत की गिरावट दिख रही है.

कल सबसे ज़्यादा भागने वाले अडानी ग्रुप के शेयर आज धराशायी हैं, अडानी पोर्ट्स और अडानी इंटरप्राइजेज में 15 प्रतिशत तक की गिरावट नज़र आ रही है। वहीँ SBI, पॉवरग्रिड और NTPC में लगभग 10 प्रतिशत की गिरावट नज़र आ रही है. लार्सन और इंडसइंड बैंक में भी लगभग 9 प्रतिशत तक की गिरावट है. NSE में लिस्टेड 2092 कंपनियों के शेयर नुक्सान में हैं जबकि मात्र 192 फायदे में दिखाई दे रहे हैं.

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

चुनाव बाद पहली बार वाराणसी पहुंचे मोदी, बताई लंगड़ा आम की कहानी

तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी मंगलवार...

क़ुरबानी के जानवर हाज़िर हों, WC से बाहर होने के बाद हफ़ीज़ का अनोखा सन्देश

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद हफीज ने...

तेज़ी में खुलकर लाल निशान में शेयर बाज़ार

घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत गुरुवार को हरे निशान...

मोदी के पैर छूकर नितीश ने बिहार को शर्मसार किया, प्रशांत किशोर

पूर्व राजनीतिक रणनीतिकार और जन सुराज नेता प्रशांत किशोर...