depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Dussehra: द्वारका दशहरा मेला पहुंचे PM बोले, अगली रामनवमी रामलला के मंदिर में मनेगी

धर्मDussehra: द्वारका दशहरा मेला पहुंचे PM बोले, अगली रामनवमी रामलला के मंदिर...

Date:

Dussehra 2023: दशहरा के मौके पर प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने द्वारका में आयोजित श्री रामलीला सोसायटी की 11वें भव्य रामलीला में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे। पीएम मोदी ने राम-सीता और लक्ष्मण की आरती उतारी। कार्यक्रम में आए लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं समस्त भारतवासियों को शक्ति उपासना पर्व नवरात्रि और विजयादशमी की शुभकामनाएं देता हूं। पीएम मोदी ने कहा कि विजयादशमी का ये पर्व, अन्याय पर न्याय की विजय, अहंकार पर विनम्रता की विजय और आवेश पर धैर्य की विजय का पर्व है।
इस दौरान उन्होंने कहा कि हमें सौभाग्य मिला है कि हम भगवान राम का भव्यतम मंदिर बनता देख पा रहे हैं।

हम गीता का ज्ञान जानते हैं, INS विक्रांत और तेजस का निर्माण भी जानते हैं

अयोध्या में अगली रामनवमी पर रामलला के मंदिर में गूंजा हर स्वर, पूरे विश्व को हर्षित करने वाला होगा। राम मंदिर में भगवान राम के विराजने को बस कुछ माह बचे हैं। हम गीता का ज्ञान जानते हैं और आईएनएस विक्रांत और तेजस का निर्माण भी जानते हैं। हम श्रीराम की मर्यादा भी जानते हैं और अपनी सीमाओं की रक्षा करना जानते हैं। हम शक्ति पूजा का संकल्प भी जानते हैं और कोरोना में सर्वे सन्तु निरामया के मंत्र को भी जी करके दिखाते हैं। इस बार हम विजयादशमी तब मना रहे हैं, जब चंद्रमा पर हमारी विजय को दो महीने पूरे हो चुके हैं। विजयादशमी पर शस्त्र पूजा का विधान है। भारत की धरती पर शस्त्रों की पूजा किसी भूमि पर आधिपत्य नहीं, बल्कि अपनी रक्षा के लिए की जाती है।

आज रावण का दहन सिर्फ पुतले का दहन न हो

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमें ध्यान रखना है कि आज रावण का दहन सिर्फ पुतले का दहन न हो। ये दहन हो हर विकृति का जिस कारण से समाज का आपसी सौहार्द बिगड़ता है। ये दहन हो उन शक्तियों का जो जातिवाद और क्षेत्रवाद के नाम पर मां भारती को बांटने का प्रयास करती हैं। ये दहन उन विचारों का हो जो भारत का विकास नहीं स्वार्थ की सिद्धि निहित है।

समाज में बुराइयों और भेदभाव के अंत का संकल्प लें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विजयादशमी का पर्व सिर्फ रावण पर राम विजय का नहीं, राष्ट्र की हर बुराई पर राष्ट्रभक्ति की विजय का पर्व होना चाहिए। हमें समाज में बुराइयों के, भेदभाव के अंत का संकल्प लेना चाहिए। हमें भगवान राम के विचारों का भारत बनाना है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

बजट 2024: रक्षा खर्च में इज़ाफ़े का अनुमान

23 जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण केंद्रीय बजट...

महाराष्ट्र: एनसीपी में भगदड़ का दौर शुरू, चार नेताओं का इस्तीफ़ा

महाराष्ट्र के पिंपरी चिंचवाड़ में अजित पवार की राष्ट्रवादी...

पीएम मोदी से मिले भूपेंद्र चौधरी, ली हार की नैतिक ज़िम्मेदारी

उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी...