depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

मोदी ने सबका साथ, सबका विकास नारा देकर सबका सत्यानाश किया, खड़गे का हमला

नेशनलमोदी ने सबका साथ, सबका विकास नारा देकर सबका सत्यानाश किया, खड़गे...

Date:

दिल्ली के रामलीला मैदान में न्याय संकल्प कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री मोदी पर उनके सबका साथ सबका विकास के नारे को लेकर ज़ोरदार हमला करते हुए कहा कि न तो सबका साथ लिया और न ही सबका विकास हुआ बल्कि मोदी राज में सबका सत्यानाश ज़रूर हुआ है.

गुरुगोविंद सिंह जी के किसी भी इंसान को ना तो डरना चाहिए और ना ही डराना चाहिए वाले सन्देश का ज़िक्र करते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि दरअसल डर मोदी जी दिल और दिमाग़ में घर कर गया है, इसलिए वो दूसरों को डराने की कोशिश करते हैं लेकिन हम न तो किसी से डरेंगे और न ही किसी डराएंगे। खड़गे ने कहा कि आज देश का युवा और किसान आत्महत्या करने पर मजबूर है. आम आदमी टैक्स के बोझ के तले दबा हुआ है. किसानों के लिए मोदी सरकार के पास पैसा नहीं है लेकिन दोस्त उद्योगपतियों के लिए खज़ाना खुला हुआ है, उन्हें क़र्ज़ पर क़र्ज़ मिलता है और फिर माफ़ कर दिया जाता है.

बीजेपी सरकार पिछले 10 बरसों से भारत के लोगों की भावनाओं के साथ सिर्फ खेलती रही। गरीब को लोन मिलता ही नहीं है, क्योंकि बैंक वाले भी इनसे डरे हुए हैं, आज अगर कोई अन्याय के विरुद्ध लड़ता है तो केस दर्ज हो जाता है। ईडी, सीबीआई, आईटी से पीएम मोदी विपक्ष को डराकर राज करना चाहते हैं। विपक्ष के एमपी, एमएलए कलंकित होते हैं, लेकिन भाजपा में जाते ही वह पाक साफ हो जाते हैं। खड़गे ने कहा कि आप जब खडे़ हो जाएंगे, तभी ये ठीक होगा, क्‍योंकि हर अदालत में उनकी चलती है, हर ऑफिसर के पास उनकी चलती है, हर लोगों को वो कुछ न कुछ धमकाकर, डराकर रखते हैं।’

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

NCLT में बायजू के फाउंडर रवींद्रन के खिलाफ मुकदमा

एडटेक कंपनी बायजू पर संकट गहराता जा रहा है.कंपनी...

टी 20 आई का सबसे तेज़ शतक अब नामीबियाई बल्लेबाज़ के नाम

टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट का सबसे तेज शतक लगाने के...

कमिटेड को हिंदी में क्या कहते हैं?

Committed meaning In Hindi: नमस्कार दोस्तों, अक्सर आपने 'Committed'...

बिना सूचना देश छोड़कर नहीं जा सकते बायजू संस्थापक रवींद्रन!

एडटेक कंपनी बायजू के संस्थापक रवींद्रन की मुश्किलें और...