depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

चुनाव आयोग ने लिया 74 पोलिंग स्टशनों की EVM चेक कराने का फैसला

नेशनलचुनाव आयोग ने लिया 74 पोलिंग स्टशनों की EVM चेक कराने का...

Date:

लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग को ईवीएम में खराबी, अनियमितता और मतदान के दिन से संबंधित सैकड़ों शिकायतें मिली थीं। इनमें से उसने केवल 74 शिकायतों पर ही संज्ञान लिया और अब कार्रवाई के तौर पर 74 मतदान केंद्रों की ईवीएम की जांच करवाने का निर्णय लिया है। इनमें से सबसे ज्यादा महाराष्ट्र के 40, तमिलनाडु के 20, हरियाणा के 6, छत्तीसगढ़ के 6 और आंध्र प्रदेश के 2 मतदान केंद्रों की ईवीएम की जांच करवानी है। आयोग ने करनाल और फरीदाबाद लोकसभा सीटों के छह मतदान केंद्रों की ईवीएम की जांच करवाने का निर्णय लिया है।

करनाल और फरीदाबाद लोकसभा सीटों पर हुए चुनाव के दौरान कांग्रेस प्रत्याशियों ने छेड़छाड़ की आशंका जताई थी। इस संबंध में आयोग से शिकायत भी की गई थी। करनाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिव्यांशु बुद्धिराजा की ओर से चुनाव आयोग को पत्र लिखा गया था। इसमें ईवीएम की जांच करवाने की मांग की गई थी। फरीदाबाद से कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र प्रताप ने भी छेड़छाड़ की आशंका जताई थी। इस तरह करनाल में दो, पानीपत सिटी में दो और फरीदाबाद के बड़कल में दो मतदान केंद्रों पर ईवीएम को लेकर शिकायतें मिली हैं।

आपको बता दें कि ईवीएम मामले में सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि नतीजे घोषित होने के बाद प्रत्याशियों के अनुरोध पर इंजीनियरों की टीम द्वारा माइक्रोकंट्रोलर ईवीएम में जली हुई मेमोरी की जांच की जाएगी। ऐसा अनुरोध नतीजे घोषित होने के 7 दिनों के भीतर किया जाना चाहिए। सत्यापन का खर्च अनुरोध करने वाले प्रत्याशियों को उठाना होगा। अगर ईवीएम में छेड़छाड़ पाई जाती है तो खर्च वापस किया जाएगा।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

योगी के खिलाफ क्या पक रही है कोई खिचड़ी?

अमित बिश्नोईसरकार संगठन से बड़ी कभी नहीं हो सकती।...

NDA सरकार संविधान हत्या दिवस के रूप मनाएगी आपातकाल की याद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि 25...

जापान के सॉफ्टबैंक ने पेटीएम तोड़ा नाता, बेच दी पूरी हिस्सेदारी

जापान के सॉफ्टबैंक ने पेटीएम की मूल इकाई वन97...

आबकारी नीति मामले में केजरीवाल को अंतरिम ज़मानत

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज...