depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

ईफीड ने केवल एक महीने में यूपी के सुल्‍तानपुर में अपना दूसरा पशु पोषण परामर्श केन्‍द्र खोला

प्रेस रिलीज़ईफीड ने केवल एक महीने में यूपी के सुल्‍तानपुर में अपना दूसरा...

Date:


ईफीड ने केवल एक महीने में यूपी के सुल्‍तानपुर में अपना दूसरा पशु पोषण परामर्श केन्‍द्र खोला

सुल्‍तानपुर, उत्तर प्रदेश: अकबरपुर में पहले स्‍टोर के बाद, ईफीड के दूसरे स्‍टोर ने किसानों का ध्‍यान अपनी ओर खींचा है। इस सेंटर का लक्ष्‍य पशुओं के लिये स्‍थानीय आहार बनाने में किसानों की सहायता करना है। पशु आहार एवं आहार पद्धतियों के लिये अनोखे स्‍टार्ट-अप ई-फीड ने उत्‍तर प्रदेश के सुल्‍तानपुर जिले में नया पशु पोषण परामर्श केन्‍द्र एवं स्‍टोर (एनीमल न्‍यूट्रीशन एडवायजरी सेंटर कम स्‍टोर) खोला है।

पशु आहार उत्‍पादन एवं सर्वश्रेष्‍ठ पद्धतियों से सम्‍बंधित सेवाओं की एक श्रृंखला के साथ इस स्‍टोर का लक्ष्‍य किसानों को इस पर शिक्षित करना भी है कि वे राशन बैलेंसिंग सॉफ्टवेयर का इस्‍तेमाल कर कैसे अपने पशुओं के लिये पोषक आहार बना सकते हैं।

31 दिसंबर को खुला, यह स्‍टोर पशु आहार सम्‍बंधी सारे सवालों के लिये एक संपूर्ण समाधान है। केवल एक वर्ष में कंपनी ने तीव्र वृद्धि की है। उसने पहला फिजिकल स्‍टोर केवल एक महीने पहले उत्‍तर प्रदेश में अयोध्‍या के पास अकबरपुर में खोला था।

ईफीड दिसंबर 2020 में अस्तित्‍व में आया था। पशु आहार के लिये यह अनोखा स्‍टार्ट-अप पशुओं के लिये पोषक आहार के महत्‍व पर ध्‍यान आकर्षित करना चाहता है। और यह कि पशु आहार का मानव स्‍वास्‍थ्‍य, पर्यावरण और अर्थव्‍यवस्‍था पर सीधा प्रभाव कैसे पड़ता है। इसके साथ ही यह स्‍टार्ट-अप किसानों के विकास को गति देने का लक्ष्‍य भी रखता है।

अपनी शुरूआत से ही ईफीड ने पशुओं के लिये स्‍थानीय आहार की अवधारणा लाने की दिशा में काम किया है और इस पर जोर दिया है कि आहार में बदलाव से कुल मिलाकर खाद्य-श्रृंखला और पशुपालक किसानों की स्थिति कैसे प्रभावित होती है।

स्‍थानीय आहार का उत्‍पादन प्रभावशाली और कम खर्चीला होता है। यह किसानों को बेहतर आजीविका और व्‍यवसाय की गुणवत्‍ता के संदर्भ में सशक्‍त भी करता है।

यह फिजिकल स्‍टोर अब किसानों को पशुओं की आहारीय आवश्‍यकताओं और समग्र आवश्‍यकता पर शिक्षित करने की प्रक्रिया को गति देगा। यह उन्‍हें उनके पास मौजूद संसाधनों से ऑर्गेनिक आहार बनाने की प्रक्रिया में सहायता भी देगा।

इस स्‍टोर के यूएसपी में से एक है ईफीड कैटल सपोर्ट सिस्‍टम जो किसानों को अपने पशुओं से जुड़े सवाल करने की अनुमति देता है और व्‍यक्तिगत आधार पर विस्‍तृत समाधान प्रदान करता है।

इस स्‍टोर द्वारा प्रदत्‍त अन्‍य सेवाओं में सभी आयु और प्रजातियों के पशुओं के लिये पोषण सलाहकारी, खासकर ईफीड द्वारा बनाये गये आहार पूरक, पशुओं के लिये दवाएं, उच्‍च गुणवत्‍ता का आहार और कच्‍चा माल शामिल हैं। इसके अलावा स्‍टोर पर पशु बीमा से जुड़ी सेवाएं भी उपलब्‍ध हैं। किसानों को इस पर गहन जानकारी पाने का मौका मिलेगा कि पशु बीमा कैसे मददगार साबित हो सकता है और पशु को बीमित करने के क्‍या फायदे हैं।

ईफीड देश की एकमात्र कंपनी है, जो पशु आहार से सम्‍बंधित परेशानियों पर काम कर रही है और किसानों को पशुओं के पोषण पर सही जानकारी और सूचना से सशक्‍त करने के प्रयास कर रही है। यह कंपनी 1.2 लाख से ज्‍यादा किसानों से जुड़ चुकी है और उन्‍हें पशुओं को खिलाने की सही तकनीकों और पद्धतियों से सक्षम बनाया है।

नये स्‍टोर के बारे में ईफीड के फाउंडर कुमार रंजन ने कहा, “छोटे जिलों में फिजिकल स्‍टोर्स खोलकर हम किसानों तक अपनी पहुँच बढ़ा सकते हैं। स्‍टोर से बढ़कर यह एक समाधान केन्‍द्र और मंच है, जो प्रत्‍यक्ष अनुभव देता है। हम किसानों द्वारा ब्रीड कराये जाने वाले पशुओं पर उनकी सहायता करते और शिक्षा देते हैं और यह कि वे कैसे विभिन्‍न प्रजातियों की आहारीय आवश्‍यकताओं को पूरा कर सकते हैं। यह पोषण को स्‍थानीय बनाने और खेती की लागत को कम करने के हमारे लक्ष्‍य की दिशा में एक बड़ा कदम है, ताकि हम किसानों की सहायता कर सकें और खाद्य-श्रृंखला में ऐसा बदलाव ला सकें, जिससे मनुष्‍यों को फायदा हो।”

ईफीड अपनी पहुँच बढ़ाने और यथासंभव ज्‍यादा से ज्‍यादा किसानों तक पहुँचने पर केन्द्रित है, ताकि एक संतुलित और ज्‍यादा स्‍थायी सामाजिक-आर्थिक माहौल बना सके। लक्ष्‍य पर्यावरणीय संतुलन और खाद्य श्रृंखला की शुद्धता को बनाये रखना है, जो किसानों को सही शिक्षा और सहायता देने से पूरा हो सकता है। अपने फिजिकल स्‍टोर मॉडल की सफलता को देखते हुए ईफीड की योजना अगले तीन महीनों में 100 स्‍टोर खोलने की है।

ईफीड के विषय में

ईफीड पशु आहार के लिये एक अनोखा स्‍टार्ट-अप है, जो दिसंबर 2020 में शुरू हुआ था। यह पशुओं के लिये पोषक आहार के महत्‍व को बढ़ावा दे रहा है और यह कि उसका मानव स्‍वास्‍थ्‍य, पर्यावरण और अर्थव्‍यवस्‍था पर सीधा प्रभाव कैसे हो सकता है। इसके साथ ही वह किसानों के विकास को गति दे रहा है। अपनी तरह का पहला स्‍टार्ट-अप ईफीड किसानों को खुद से पशुओं के लिये आहार बनाने में सक्षम करता है। यह पशुओं की आहारीय आवश्‍यकताओं और समग्र आवश्‍यकता पर किसानों को शिक्षित भी करता है। https://www.efeed.in/

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

सूरत में पांच मंज़िला इमारत गिरी, मलबे से सात शव बरामद

गुजरात के सूरत में एक पांच मंजिला इमारत के...

गंभीर ही बने टीम इंडिया के नए कोच, जय शाह ने की घोषणा

पिछले महीने बारबाडोस में 2024 टी20 विश्व कप जीत...

जापान के सॉफ्टबैंक ने पेटीएम तोड़ा नाता, बेच दी पूरी हिस्सेदारी

जापान के सॉफ्टबैंक ने पेटीएम की मूल इकाई वन97...

चीनी घुसपैठ के मुद्दे पर खड़गे ने फिर मोदी सरकार को घेरा

भारतीय क्षेत्र में चीनी घुसपैठ के मुद्दे पर केंद्र...