depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण फैला, देहरादून में मिले 26 संक्रमित

उत्तराखंडउत्तराखंड में कोरोना संक्रमण फैला, देहरादून में मिले 26 संक्रमित

Date:

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना फैलने लगा है। आज सोमवार को उत्तराखंड में 30 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है। इनमें से सबसे अधिक देहरादून में मिले है। आज सोमवार को लगभग 550 सैंपलों की जांच की गई है। इनमें से 30 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। बीते 24 घंटे के भीतर प्रदेश में 30 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसमें देहरादून जिले में सबसे अधिक 26 मामले शामिल हैं। तीन महीनों के बाद प्रदेश में एक दिन में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित मामले सामने आए हैं।
राज्य स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक आज सोमवार को लगभग 550 सैंपलों की जांच की गई। जबकि 30 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। 30 संक्रमितों में देहरादून में 26, हरिद्वार, नैनीताल, पौड़ी व चमोली जिले में एक-एक संक्रमित मिला है।

एक जनवरी 2023 से लेकर अब तक कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या राज्य में 314 हो गई है। तीन महीने में एक दिन में सबसे अधिक मामले आज सोमवार को मिले हैं। हालांकि सभी मरीजों की हालत सामान्य है। जो होम आईसोलेशन में अपना इलाज करा रहे हैं।
उत्तराखंड में कोविड जांच के लिए जल्द ही अस्पतालों में 40 ट्रूनेट मशीनें स्थापित की जाएंगी। कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी ;सीएसआरद्ध के तहत स्वास्थ्य विभाग को ये मशीनें मिल रही हैं। छह अप्रैल को सभी जिलों को ट्रनेट मशीनें दी जाएंगी।

प्रदेश सरकार ने 2024 तक उत्तराखंड को टीबी मुक्त राज्य बनाने का लक्ष्य रखा है। टीबी मरीजों की पहचान करने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जांचें बढ़ाई जाएगी। इसके लिए सरकार की ओर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ट्रूनेट मशीनें स्थापित की जाएगी। कई कंपनियों की ओर से सीएसआर फंड के तहत स्वास्थ्य विभाग को मशीनें दी जाएंगी।

सचिव स्वास्थ्य डॉ. आर राजेश कुमार ने बताया कि टीबी और कोविड जांच के लिए सभी जिलों को ट्रूनेट मशीनें लगाई जाएगी। इससे प्रदेश में कोरोना और टीबी की जांच में तेजी आएगी। इस मशीनें से 45 मिनट से एक घंटे के भीतर कोरोना और टीबी की जांच रिपोर्ट मिल जाएगी।
ट्रूनेट मशीन से कोविड सैंपल पॉजिटिव आने पर आरटीपीसीआर जांच भी कराई जाएगी। ट्रूनेट एक पोर्टेबल मशीन हैं। जिसमें विशेष प्रकार की चिप है। इस मशीन में गले और नाक के स्वाब के सैंपल की जांच की जाती है। वहीं राज्य सरकार ने लोगों से कोरोना से बचने के लिए कोविड प्रोटोकाल का पालन करने की सलाह दी है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

पीएलआई योजना के तहत दूरसंचार उपकरण विनिर्माण की बिक्री 50,000 करोड़ रुपये के पार

संचार मंत्रालय के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक दूरसंचार उपकरण...

ज़िम्बाबवे को चौथे टी 20 में रौंद टीम इंडिया ने बनाई अजेय बढ़त

यशस्वी जायसवाल (नाबाद 93) और कप्तान शुभमन गिल (नाबाद...

Hierank Business School में नए एकेडेमिक वर्ष 2024-25 के लिए एडमिशन शुरू हुए

मेरठ - भविष्य की शिक्षा प्रदान करने में अग्रणी,...

हरियाणा में INLD के साथ बसपा ने किया गठबंधन

पार्टी के डूबते वजूद को बचाने के लिए बसपा...