depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

आठ साल पुराने मामले में केंद्रीय मंत्री बरी, Akhilesh Yadav के खिलाफ लड़े थे चुनाव

न्यूज़आठ साल पुराने मामले में केंद्रीय मंत्री बरी, Akhilesh Yadav के खिलाफ...

Date:

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में अखिलेश यादव के खिलाफ करहल से भारतीय जनता पार्टी के टिकट चुनाव लड़ने वाले केंद्रीय राज्य मंत्री एसपी सिंह बघेल को एक मामले में बरी कर दिया गया है। एसपी सिंह बघेल पर यहां रोक है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में मतदान वाले दिन बूथ कैपचरिंग के विवाद के दौरान हुए दंगे में वो शामिल थे। इस मामले में एसपी सिंह बघेल सहित 1000 अज्ञात समर्थकों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। मामले की सुनवाई में 8 साल बीत जाने के बाद बघेल समेत सभी आरोपियों को दोषमुक्त करार दिया गया है। 

Read also: उप्र माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक को CM योगी ने किया ​निलंबित

फिरोजाबाद के अपर जिला जज नवम एवं स्पेशल जज एमपी एमएलए कोड जितेंद्र सिंह ने 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान मतदान वाले दिन बूथ कैपचरिंग के आरोप में मुकदमा झेल रहे एसपी सिंह बघेल को दोषमुक्त करार दिया है। जज ने कहा है कि बघेल समेत सभी आरोपियों के खिलाफ कोई भी साक्ष्य नहीं मिला है।

गौरतलब है कि 2014 में फिरोजाबाद लोकसभा से एसपी सिंह बघेल ने भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था। वहीं समाजवादी पार्टी ने पूर्व सांसद अक्षय यादव को चुनाव लड़ाया था। वोटिंग के दिन समाजवादी पार्टी पर एसपी सिंह बघेल ने बूथ कैपचरिंग का आरोप लगाते हुए अपने समर्थकों के साथ सुभाष तिराहे पर धरना प्रदर्शन किया था। हाईवे पर बिगड़ती स्थिति को देखकर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया था जिससे भाजपा कार्यकर्ता भड़क गए थे।

फूंक दी थी पुलिस जीप

इस दौरान मचे बवाल के बीच बसों पर पथराव किया गया था साथ ही उपद्रवियों ने पुलिस की गाड़ी को भी फूंक दिया था। थाना दक्षिण के तत्कालीन थानाध्यक्ष जेएस अस्थाना ने इस मामले में एसपी सिंह बघेल सहित 1000 से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ बवाल लूट और सरकारी गाड़ी चलाने सहित कई मामलों में मुकदमा दर्ज कर लिया था।

Read also: प्रदेश भ्रमण के लिए योगी सरकार ने मंत्रियों को सौंपी मंडलों की जिम्मेदारी

हालांकि पुलिस ने जांच के दौरान भारतीय जनता पार्टी के नेता भगवानदास संखवार थान सिंह यादव पूर्व विधायक शिव शंकर को उपस्थित नहीं माना था। इस मामले में प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल सहित सात अन्य के खिलाफ न्यायालय में चार्जशीट दाखिल की गई थी। सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष की ओर से पैरवी करने वाले वरिष्ठ एडवोकेट राजेश कुलश्रेष्ठ ने जानकारी दी कि बघेल सहित अन्य लोगों को गलत ढंग से आरोपी बनाया गया है जबकि इनका कोई दोष नहीं है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

चुनावी रैली के दौरान ट्रम्प की हत्या की कोशिश, गोली कान छूकर निकल गयी

चुनावी रैली के दौरान अमेरिका के रिपब्लिकन पार्टी के...

ट्रम्प पर फायरिंग करने वाले की हुई पहचान

फेडरल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टीगेशन (एफबीआई) ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति...

IMF ने भारत की जीडीपी का अनुमान बढ़ाया

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के ताजा अनुमान के मुताबिक भारत...