depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Stapled Visa: भारत और चीन के बीच विवाद की वजह नत्थी वीजा, जानिए क्या है ‘Stapled Visa’

इंटरनेशनलStapled Visa: भारत और चीन के बीच विवाद की वजह नत्थी वीजा,...

Date:

Stapled Visa: वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स के लिए चीन में 11 में से तीन भारतीय वुशु खिलाड़ियों को स्टेपल वीजा जारी किया गया है। स्टेपल वीजा को नत्थी वीजा भी कहा जाता है। इसके बाद भारत ने चीन के इस कदम का विरोध जताते हुए अपने तीनों खिलाड़ियों को एयरपोर्ट से वापस बुला लिया। ऐसे में सवाल है कि आखिर स्टेपल वीजा है क्या। ये भारत और चीन के बीच विवाद की वजह क्यों है।
अक्सर दूसरे देश में घूमने या किसी काम से जाने का प्लान बनाते हैं, तो उसके लिए वीजा और पासपोर्ट की जरूरत होती है। वीजा को लेकर एक बार फिर चीन और भारत के रिश्ते में तनाव आ गया है।

तनाव की वजह है स्टेपल्ड वीजा। दरअसल, चीन और भारत के रिश्ते में खटास लाने की वजह नत्थी वीजा Stapled Visa केवल चीन में नहीं बल्कि और कई देशों में जारी किया जाता है। वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स के लिए चीन ने तीन भारतीय खिलाड़ियों को नत्थी वीजा Stapled Visa जारी किया। इस वीजा को लेकर भारत ने आपत्ति जताई और तीनों भारतीय खिलाड़ियों को एयरपोर्ट से वापस बुला लिया।
भारत ने आपत्ति जताते हुए कहा कि चीन का यह कदम स्वीकार्य नहीं है। भारत के 11 खिलाड़ियों को चीन जाना था। जिसमें तीन खिलाड़ी अरुणाचल प्रदेश के थे। जिनके लिए अलग वीजा जारी किया जाता है। भारत में स्टेपल्ड वीजा को मंजूरी नहीं दी जाती है।

क्या है नत्थी वीजा Stapled Visa

नत्थी वीजा Stapled Visa एक ऐसा वीजा है। जो पासपोर्ट में सीधे मुहर लगाने के बजाय कागज के अलग टुकड़े से जुड़ा होता है। 2009 से, चीन, अरुणाचल प्रदेश के भारतीयों को नत्थी वीजा Stapled Visa जारी कर रही है। दरअसल, चीनी सरकार तिब्बत की तरह अरुणाचल प्रदेश को अपना राज्य मानता है। इसलिए, चीन अरुणाचल के भारतीयों को ऐसे वीजा जारी कर रहा है। चीन, अरूणाचल प्रदेश पर भारतीय दावे को मान्यता नहीं देता।

चीन नत्थी वीजा Stapled Visa क्यों जारी कर रहा है?

नत्थी वीजा Stapled Visa चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश पर अपना दावा जताने के लिए उपयोग किया जाने वाला एक राजनीतिक हथियार है। अरुणाचल प्रदेश भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में है। चीन हमेशा से इस पर दावा करता रहा है। लेकिन भारत ने चीन के दावे को मान्यता नहीं दी है।
अब यह नत्थी वीजा Stapled Visa भारत और चीन दोनों के लिए संवेदनशील मुद्दा बन गया है। चीनी सरकार की ओर से कहा है कि जब तक भारत सरकार चीन के दावे को मान्यता नहीं देगा, तब तक चीन नत्थी वीजा Stapled Visa जारी रखेगा।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

सपाट शुरुआत के बाद शेयर बाजार ने पकड़ी तेज़ी

घरेलू शेयर बाजार ने गुरूवार को सपाट शुरुआत के...

स्वामी प्रसाद मौर्या के सुपुत्र कांग्रेस में शामिल

लोकसभा चुनाव के चार चरण पूरे हो चुके हैं...

Corona Alert: New variant FLiRT (KP.2) का कहर, देश में फिर लॉक डाउन जैसे हालात

पारुल सिंघल कोरोना महामारी दुनिया से खत्म होने का नाम...

रोहित के बाद विराट भी आये इम्पैक्ट प्लेयर नियम के विरोध में

इस आईपीएल का सबसे बड़ा फेल्योर इम्पैक्ट प्लेयर के...