depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

राज्यसभा चुनाव: यूपी, हिमाचल में खेला, कर्नाटक में नहीं गली भाजपा की दाल

नेशनलराज्यसभा चुनाव: यूपी, हिमाचल में खेला, कर्नाटक में नहीं गली भाजपा की...

Date:

राज्यसभा चुनाव के तहत तीन राज्यों उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक की 15 सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हुआ। आधिकारिक नतीजों की घोषणा अभी नहीं हुई है मगर स्थिति स्पष्ट हो चुकी है. भाजपा ने उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में खेला कर दिया है वहीँ कर्नाटक में डी के शिवकुमार के आगे उसकी दाल नहीं गल पायी, उलटे कांग्रेस ने भाजपा के एक विधायक से क्रॉस वोटिंग कराने में कामयाबी हासिल की. कांग्रेस ने यहाँ से अपने तीनों उम्मीदवार जिताने में कामयाबी हासिल की. वहीँ हिमाचल की एक सीट पर हुए मतदान में सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी को झटका लगा, क्योंकि 40 विधायकों वाली कांग्रेस के सिर्फ 34 विधायकों ने पार्टी उम्मीदवार अभिषेक मनु सिंघवी के पक्ष में मतदान किया और उन्हें हार का सामना करना पड़ा. भाजपा और कांग्रेस दोनों को 34-34 वोट पड़े और बाद में ड्रा करके लिए गए फैसले में भाजपा को जीत मिली।

लेकिन असली खेल तो उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के साथ हुआ जिसके सात विधायकों ने पार्टी के पक्ष में मतदान करने की जगह भाजपा के आठवें उम्मीदवार संजय सेठ के लिए वोट किया। संजय सेठ कभी समाजवादी पार्टी के कद्दावर सिपहसालार माने जाते थे. क्रॉसवोटिंग की बात तो कल ही स्पष्ट हो गयी थी क्योंकि सपा के आठ विधायक अखिलेश की डिनर पार्टी में नहीं पहुंचे थे. इन आठ विधायकों में सपा के चीफ व्हिप मनोज पांडेय भी थे जिन्होंने आज मतदान से पहले अपने पद से इस्तीफ़ा भी दे दिया था.

जानकारी के मुताबिक समाजवादी पार्टी के मनोज पांडे, राकेश पांडे, राकेश प्रताप सिंह, पूजा पाल, विनोद चतुर्वेदी, अभय सिंह और आशुतोष सिंह ने क्रॉस वोटिंग की है वहीँ अमेठी की विधायक गायत्री प्रजापति की पत्नी महराजी देवी प्रजापति वोटिंग से दूर रहीं। क्रॉस वोटिंग पर पूछे गए सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने इन चुनावों में जीत के लिए हर तरह का हथकंडा अपनाया। अखिलेश ने कहा कि भाजपा गिनती वाले चुनाव तो जीत सकती है लेकिन जनता वाले चुनाव नहीं जीत सकती।

वहीँ कर्नाटक में भाजपा का दूसरा उम्मीदवार नहीं पाया। कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डी के शिवकुमार ने उलटे भाजपा के विधायक को तोड़ लिया और क्रॉस वोटिंग कराकर अपने तीनों प्रत्याशी अजय माकन, नसीर हुसैन और जीसी चन्द्रशेखर को जीत दिला दी. शिवकुमार ने पूरे चुनाव के दौरान भाजपा की हर चाल पर नज़र रखी। वो इस चुनाव में पार्टी की तरफ से पोलिंग एजेंट भी बने थे ताकि पार्टी के विधायकों पर नज़र रखी जा सके।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

सोना 73 और चांदी 86 हज़ार के पार

वैश्विक बाजारों में तेजी के रुख के बीच राष्ट्रीय...

हेटमायर की हिटिंग ने पार लगाई RR की नय्या

आईपीएल 2024 में राजस्थान का रॉयल परफॉरमेंस जारी है,...

किस शिखंडी ने बालियान के काफिले पर कराया हमला

किसी शिखंडी ने मुजफ्फरनगर से भारतीय जनता पार्टी के...

मुश्किल में बाबा: सुप्रीम ने कहा, गलती की है तो सजा भी मिलेगी

पतंजलि वाले बाबा रामदेव ने शायद कभी सोचा नहीं...