depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

MG Motor India ने पटियाला के थापर इंस्टिट्यूट को कौशल विकास मजबूत बनाने के लिए ग्लॉस्टर भेंट किया

प्रेस रिलीज़MG Motor India ने पटियाला के थापर इंस्टिट्यूट को कौशल विकास मजबूत...

Date:

पटियाला, 28 जुलाई, 2022: MG मोटर इंडिया ने पटियाला के थापर इंस्टिट्यूट को कौशल विकास को बढ़ावा देने तथा शिक्षा एवं उद्योग जगत के बीच के अंतर को कम करने के लिए ग्लॉस्टर भेंट किया। कंपनी की यह पहल MG नर्चर प्रोग्राम के अनुरूप है, साथ ही यह MG के CASE (कनेक्टेड, ऑटोनॉमस, शेयर्ड और इलेक्ट्रिक) मोबिलिटी के लक्ष्य की दिशा में बढ़ाया गया एक और कदम है। इससे छात्रों का कौशल विकास होगा तथा उन्हें रोजगार के बेहतर अवसरों के लिए तैयार होने में मदद मिलेगी।

इस मौके पर श्री पंकज पार्कर, MG मोटर इंडिया, ने कहा, “थापर इंस्टीट्यूट के साथ इस साझेदारी से हमें बेहद खुशी हो रही है, जिससे मोबिलिटी सेगमेंट में मौजूदा पीढ़ी का कौशल विकास सुनिश्चित होगा। हमारे विचार से यह पहल छात्रों को ऑटो-टेक इंडस्ट्री की तकनीकी जानकारी हासिल करने तथा उन्हें भविष्य के रोजगार के अवसरों के लिए तैयार करने में बेहद मददगार साबित होगी।”

MG मोटर इंडिया के साथ इस साझेदारी के बारे बात करते हुए, थापर इंस्टिट्यूट के निदेशक, प्रो. प्रकाश गोपालन ने कहा, “MG मोटर की इस नेक पहल से हम बेहद सम्मानित महसूस कर रहे हैं, जिससे एडवांस्ड व्हीकल टेक्नोलॉजी के बारे में इंजीनियरिंग के हमारे छात्रों का कौशल विकसित होगा। इससे छात्रों को नौकरी पाने के साथ-साथ उद्योग जगत की बेहतर संभावनाओं के लिए तैयार करने में मदद मिलेगी। बिल्कुल नए जमाने की टेक्नोलॉजी सीखकर और इसका व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करके हमारे छात्र भी बिल्कुल प्रोफेशनल की तरह बन जाएंगे, जैसा कि हमने सोचा था।

इस साझेदारी के माध्यम से छात्र वाहन की प्रणालियों (व्हीकल सिस्टम्स) के बारे में अच्छी तरह जान पाएंगे, तथा उन्हें कारों की प्राथमिक निरीक्षण की प्रक्रिया को समझने में भी मदद मिलेगी। इस तरह छात्रों को अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी वाले वाहनों के अलग-अलग इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक और मैकेनिकल सिस्टम पर प्रायोगिक तरीके से शोध (रिसर्च) करने का मौका मिलेगा। छात्र वाहन के अलग-अलग हिस्सों, इसकी टेक्नोलॉजी तथा सिस्टम्स का अध्ययन करेंगे, जिसमें गाड़ी की चेसिस और इसका ढांचा, गियरबॉक्स, ब्रेक, व्हील एवं टायर असेंबली, गाड़ी का लाइटिंग सिस्टम, क्लच, और इसी तरह की बहुत सी चीजें शामिल हैं। वाहन के कलपुर्जे को अलग-अलग करने तथा उन्हें असेंबल करना सीखकर छात्रों को कार की खूबसूरती एवं इंटीरियर डिजाइन के पहलुओं के बारे में जानने का भी मौका मिलेगा, जिससे वे अपने असाइनमेंट के हिस्से के रूप में विभिन्न घटकों को डिजाइन कर सकेंगे। इसके अलावा, छात्रों को ट्विन-टर्बोचार्ज्ड 2.0L फोर-सिलेंडर डीजल इंजन और लेवल-1 एडवांस्ड ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम के साथ-साथ ग्लॉस्टर की खास बातों के बारे में भी गहन जानकारी मिलेगी। इससे उनकी भविष्य की रोजगार क्षमता में वृद्धि होगी और वे MG या किसी दूसरे ऑटोमोटिव ब्रांड में नौकरी के लिए पूरी तरह तैयार हो जाएंगे। सही मायने में, कंपनी की इस पहल से थापर इंस्टिट्यूट के उभरते हुए इंजीनियरों को अनुभव प्राप्त करते हुए सीखने का अवसर मिलेगा।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

कार्यकर्ताओं के तिरस्कार की वजह से हारे यूपी, समीक्षा बैठक में सामने आया सच

लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा...

चीनी घुसपैठ के मुद्दे पर खड़गे ने फिर मोदी सरकार को घेरा

भारतीय क्षेत्र में चीनी घुसपैठ के मुद्दे पर केंद्र...