depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

कोविड-19 के दौर के लिए मार्केटिंग मंत्र

आर्टिकल/इंटरव्यूकोविड-19 के दौर के लिए मार्केटिंग मंत्र

Date:


कोविड-19 के दौर के लिए मार्केटिंग मंत्र

कोविड-19 की वैश्विक महामारी ने हमारे देश में एक अरब से ज्यादा लोगों को घर में दुबकने को मजबूर कर दिया है। लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की जरूरतों ने ग्राहकों के व्यवहार के पैटर्न को भी बदला है। व्यक्तिगत और परिवार की बेहतरी और सुरक्षा संबंधित जरूरतें प्राथमिकता में सबसे ऊपर आ गई हैं। इसके अलावा, अब लोग अपने घरों में बड़ी ही सुविधा के साथ रह रहे हैं, ऐसे में, उनकी उपभोग की आदतों और खर्च करने के पैटर्न में बदलाव देखने को मिल रहा है। सवाल यह है कि इस संकट की बेला में ब्राण्ड और बिजनेसों को अपना काम करने के लिए किन तरीकों को अपनाना चाहिए ताकि वे प्रासंगिक बने रह सकें?

यहां 5 मंत्र दिए गए हैं, जिनका उपयोग बिजनेस लीडर और मार्केट पेशेवर बदलते हुए समय की चुनौतियों से निपटने के लिए कर सकते हैं।

1.अपने ब्रांड के उद्देश्य और मूल्यों का ध्यान रखें :
जिन ब्रांड्स ने एक स्पष्ट उद्देश्य स्थापित किया है और जो अपने मूल मूल्यों पर खरे उतरे हैं, उनके लिए हालात के अनुकूल होना आसान होगा। वे बदलाव का नेतृत्व करने में तेज साबित होंगे। अनिश्चित समय में, उद्देश्य रणनीति को सर्वोत्तम रूप से निर्देशित कर सकता है और हमें हमारे मूल्यों पर खरा उतरने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, हम  उपभोक्ताओं को कैसे देखते हैं, उस नजरिये में बदलाव लाने की जरूरत है और उनके साथ ज्यादा सार्थक तरीके से जुड़ने की जरूरत है। ब्रांड्स को पूछना चाहिए कि इस चुनौतीपूर्ण समय में आपको हमसे क्या चाहिए, न कि यह कि  जो हमारे पास है उसे कैसे बेच सकते हैं। इन कोर उद्देश्य के तहत काम करते हुए सहयोग या विस्तार के लिए नई संभावनाएं खुल सकती है।

2.अपने ग्राहकों को गहराई से और निष्ठा के साथ सुनें:
सबसे महत्वपूर्ण प्राथमिकता यह होनी चाहिए कि आपको अपने मौजूदा ग्राहकों का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि यह आपके व्यवसाय को स्थिरता प्रदान करेगा। यह सर्वेक्षण या पारंपरिक रिसर्च करने के बारे में नहीं है, बल्कि हर दिन अपने ग्राहकों की बातों को ध्‍यान से सुनें और समस्‍याओं की पहचान करें । ऐसे चुनौतीपूर्ण समय में ग्राहकों को कार्यों के माध्यम से ब्रांड के पुन: आश्वासन की आवश्यकता होती है, न कि केवल शब्दों की। चूंकि, मुश्किल वक्त में, ग्राहक हर एक खर्च की जांच करते हैं, वे आपके साथ अपनी खरीदारी करते समय अधिक ध्यान और वैल्यू की

उम्मीद करेंगे। यह सेवा, सहायता, शिक्षा, प्रशिक्षण, इंस्टालेशन, संशोधन, और रियल टाइम सपोर्ट, आदि के माध्यम से किया जा सकता है।

3.अपने डिजिटल कार्यक्रमों में तेजी लाएं:
कई संगठनों ने हाल के वर्षों में एक डिजिटल रूपांतरण किया है। इसलिए, यह संभावना है कि यह महामारी केवल उनके प्रयासों के लिए एक प्रमुख प्रेरक के रूप में काम करेगी। स्पष्ट रूप से कम व्यवधान के साथ संकट को संभालने के दौरान यह सबसे महत्वपूर्ण कारक होगा। साथ ही, ई-कॉमर्स में महत्वपूर्ण वृद्धि की उम्मीद कर सकते हैं क्योंकि कई सुस्त और बदलावों से दूर भागने वाले ग्राहक अब ऑनलाइन की सुविधा का अनुभव करेंगे। उपभोग में आए इस बदलाव को देखते हुए बाजार को भी अपनी खरीद रणनीति को फिर से रेखांकित करने और कई माध्यमों के जरिये अपनी मौजूदगी विकसित करने की आवश्यकता होगी।

डिजिटल के साथ जो कुछ अन्य क्षमताओं पर काम करने की भी जरूरत है, वे हैं डाटा और एनालिटिक्स क्षमताएं हैं। इसके लिए नए सेगमेंट ढूंढकर, ग्राहकों के पूरे जीवन भर के मूल्यों का आकलन, एक्स-सेल का लाभ उठाने और अधिकतम क्षमता के लिए लागतों को जोड़कर राजस्व बढ़ाने की आवश्यकता होगी।

4.कंटेंट की शानदार योजना तैयार रखें :
लोग यात्रा करने या  सामाजिक तौर पर जुड़ने में कम समय खर्च करेंगे। जाहिर है कि वे डिवाइस पर ज्यादातर समय बिताएंगे और ज्यादा व विभिन्न तरह का कंटेंट का आनंद लेंगे। ग्राहकों को ऑनलाइन शोध और तुलना में बेहतर चीजे मिलेगी। कई भाषाओं में आवाज और वीडियो-आधारित कंटेंट तक आपकी पहुंच को बढ़ाने की आवश्यकता होगी। इसलिए, ब्रांड के पास अलग-अलग ग्राहकों को संबोधित करने और उनके संदर्भ में बात करने के लिए एक मजबूत कंटेंट रणनीति होनी चाहिए। इसके अलावा, ध्यान इस बात पर भी होना चाहिए कि ग्राहक को इन समयों में क्या चाहिए। उन्हें ग्राहकों को सार्थक रूप से जोड़े रखना चाहिए और उन्हें उनकी खरीद के बारे में मदद करनी चाहिए।

5.प्रामाणिक बनें और सामूहिक ढंग से सोचें :
कोविड-19 संकट पर काबू पाने के लिए लोगों, संगठनों और समुदायों से व्यापक सहयोग की आवश्यकता होगी। इतने सारे संगठनों और धर्मार्थों द्वारा उन लोगों की मदद के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं जिन्हें हमारी मदद की सबसे अधिक आवश्यकता है। कोविड-19 युग के बाद, हमारी सामाजिक चेतना में वृद्धि की संभावना है और स्थिरता को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। उपभोक्ता संगठनों को उनके मूल के प्रति ईमानदार होने, प्रामाणिक होने और समुदाय के लिए कुछ करते रहने के लिए पुरस्कृत करेंगे। व्यापार रणनीति में स्थिरता को अधिक प्रमुख स्थान मिलना चाहिए। ब्रांड्स को सहानुभूति, प्रामाणिकता और आशावाद के साथ संवाद और संलग्न करना चाहिए। उन्हें पारदर्शी, अधिक मानवीय होना चाहिए और एक नई, बेहतर सामान्य दुनिया का निर्माण करते हुए सामूहिक दृष्टिकोण से काम करना चाहिए।

ऑथर- राकेश वाधवा,
चीफ मार्केटिंग एंड कस्टमर ऑफिसर,
फ्यूचर जनरली इंडिया लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

दिल्ली कैपिटल्स ने रिकी पोंटिंग से तोड़ा सात साल पुराना नाता

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विश्व कप विजेता कप्तान रिकी पोंटिंग...

ऑफिस नहीं तो छुट्टी नहीं, HCL में अटेंडेंस का नया रूल!

भारत की तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्यातक कंपनी HCLTech...

बजट से पहले शेयर बाजार में उतार चढ़ाव

गुरुवार को घरेलू शेयर बाजार गिरावट के साथ खुला,...

वर्ल्ड बॉक्स ऑफिस पर प्रभास ने फिर गाड़े झंडे, “कल्कि” की कमाई हज़ार करोड़ के पार

पैन इंडिया सुपरस्टार प्रभास ने अपनी नवीनतम फिल्म, "कल्कि...