depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Canada India dispute: अमेरिकी रक्षा विशेषज्ञ बोले- निज्जर और लादेन में अंतर नहीं

इंटरनेशनलCanada India dispute: अमेरिकी रक्षा विशेषज्ञ बोले- निज्जर और लादेन में अंतर...

Date:

Canada India Dispute: खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बाद उपजे भारत—कनाडा विवाद पर अमेरिका का बयान सामने आया है। अमेरिका पेंटागन के पूर्व अधिकारी ने कहा कि ‘यह सबकुछ चुनाव प्रचार के लिए हो रहा है। जिसमें ट्रूडो हारते दिखाई दे रहे हैं। यही कारण है कि अमेरिका सहित फाइव आइज देश इस मुद्दे पर कनाडा का साथ नहीं दे रहे।

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर हत्या मामले में भारत पर आरोप लगाकर कनाडा पीएम जस्टिस ट्रूडो फंस गए हैं। जस्टिन ट्रूडो अपने आरोपों के पक्ष में कोई सबूत पेश नहीं कर सके हैं। भारत ने जिस तरह से कनाडा के आरोपों पर कड़ा रुख अपनाया है, उससे खुद कनाडा प्रधानमंत्री हैरान हैं। कनाडा के सहयोगी ‘फाइव आइज'(अमेरिका, ब्रिटेन, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया) देशों से उन्हें समर्थन नहीं मिल रहा है। अब अमेरिका रक्षा मंत्रालय पेंटागन के एक पूर्व वरिष्ठ अधिकारी ने जस्टिन ट्रूडो की आलोचना की है। उन्होंने आरोप लगाया कि ट्रूडो बिना सोचे समझे भारत पर आरोप लगा रहे हैं। इसमें वह फंस गए हैं।

‘चुनाव के चलते भारत पर आरोप’

पेंटागन के पूर्व अधिकारी और वरिष्ठ फेलो माइकल रुबिन ने भारत कनाडा विवाद पर कहा कि ‘मुझे नहीं लगता कि कनाडा के सहयोगी देश जस्टिन ट्रूडो की थ्योरी से सहमत होंगे। जब जमाल खाशोगी की इंस्तांबुल में हत्या हुई तो उस समय तुर्किए ने कई अहम सबूत दिए थे। जिसके चलते सऊदी अरब की आलोचना हुई थी। लेकिन जस्टिन ट्रूडो बिना सोचे समझे आरोप लगा रहे हैं। वह अब तक कोई सबूत पेश नहीं कर सके हैं। ट्रू़डो कहते हैं कि उन पर विश्वास कीजिए तो कोई उन पर विश्वास नहीं करता। यह सबकुछ चुनाव प्रचार के लिए है। जिसमें ट्रूडो हारते दिख रहे हैं। यही कारण है कि अमेरिका सहित फाइव आइज देश इस मुद्दे पर कनाडा का साथ नहीं दे रहे।’

अमेरिका ने जो लादेन के साथ किया, वो भारत ने किया’

माइकल रुबिन ने कहा कि ‘हरदीप सिंह निज्जर कोई शरीफ नहीं था। उसके हाथों पर खून लगा हुआ है। वह कई हमलों में शामिल रहा है। हरदीप सिंह निज्जर वैसे ही प्लंबर था। जैसे ओसामा बिन लादेन कंस्ट्रक्शन इंजीनियर। विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने बयान में कहा कि हम अंतरराष्ट्रीय उत्पीड़न के खिलाफ हैं। लेकिन अगर वह ऐसा कह रहे हैं तो पाखंड कर रहे हैं। क्योंकि यह अंतरराष्ट्रीय उत्पीड़न नहीं है बल्कि यह अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद है। अमेरिका ने जो कासिम सुलेमानी के साथ किया या ओसामा बिन लादेन के साथ किया था उसमें और भारत ने जो किया, उसमें अंतर नहीं है।

गलती कर गए हैं ट्रूडो

अमेरिकी रक्षा विशेषज्ञ ने कहा कि ‘कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने एक बड़ी गलती कर दी है। उन्होंने जिस तरह से भारत पर आरोप लगाए हैं, अब वह उनसे पलट भी नहीं सकते क्योंकि वह अगर अपनी बात पर कायम रहते हैं तो उन्हें सबूत पेश करने होंगे और अगर यह साबित भी हो जाता है कि निज्जर की हत्या के पीछे भारत है तो उन्हें इस पर भी जवाब देना होगा कि उन्होंने एक आतंकवादी को क्यों पनाह दी।’

अमेरिकी रक्षा विशेषज्ञ बोले- अमेरिका, भारत का साथ देगा

माइकल रुबिन ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि ‘अमेरिका उस स्थिति में नहीं आना चाहता कि उसे दो दोस्तों में से किसी एक को चुनना पड़े, लेकिन अगर ऐसा होता है तो हम भारत को चुनेंगे क्योंकि निज्जर एक आतंकवादी था और भारत, अमेरिका के लिए अहम भी है। हमारे संबंध महत्वपूर्ण हैं। जस्टिन ट्रूडो लंबे समय तक कनाडा के पीएम नहीं रहेंगे और ऐसे में उनके जाने के बाद हम फिर से संबंध मजबूत कर सकते हैं।’

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related