depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

नेताजी के नाम पर नेहरु का अपमान करना निंदनीय, सुभाषचंद्र बोस के पोते ने कंगना को सुनाई खरी खोटी

एंटरटेनमेंटनेताजी के नाम पर नेहरु का अपमान करना निंदनीय, सुभाषचंद्र बोस के...

Date:

हिमाचल प्रदेश की मंडी लोकसभा सीट से अपने चुनावी कैरियर का आग़ाज़ कर रही कंगना रनौत को अबतक सिर्फ विवादित बयानों से ही प्रचार मिला है, फिर वो कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता द्वारा मंडी का भाव पूछने की वजह से मिला हो या फिर कंगना द्वारा सुभाष चंद्र बोस का नाम लेकर नेहरू को अपमानित करने से मिला हो. कंगना का लेटेस्ट बयान अब उनपर भारी पड़ रहा है, नेता जी सुभाष चंद्र बोस को देश का पहला प्रधानमंत्री बताकर वो पहले ही ट्रोलर्स के निशाने पर थीं मगर अब नेता जी के पोते ने कंगना रनौत के बयान पर आपत्ति और नाराज़गी जताते हुए कहा कि कंगना रनौत द्वारा नेताजी के नाम पर नेहरु का अपमान करना निंदनीय है।

बता दें कि एक टीवी कार्यक्रम में कंगना रनौत ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस को देश का पहला प्रधानमंत्री बताया था। बाद में एंकर ने जब उन्हें टोका तो उन्होंने कहा कि रुक जाइये आज मुझे इस मुद्दे को स्पष्ट करना है, कंगना ने कहा कि आज़ादी के बाद देश के पहले प्रधानमंत्री कहाँ हैं। एंकर के टोकने पर कंगना ने कहा कि नेताजी को ही देश का पहला प्रधानमंत्री बनना चाहिए था। कंगना के इस बयान पर नेताजी के पोते चंद्र कुमार बोस ने बॉलीवुड क्वीन को खरी-खोटी सुनाई है। चंद्र कुमार बोस ने कहा कि नेता जी सुभाषचंद्र बोस अविभाजित और अखंड भारत के पहले और आखिरी प्रधानमंत्री थे।19 अक्टूबर 1943 को सिंगापुर में बनी निर्वासित सरकार आजाद हिंद का उन्हें प्रधानमंत्री चुना गया था, लेकिन नेताजी के नाम पर नेहरु का अपमान करना निंदनीय हरकत है।

कंगना रनौत को लेकर आज एक और कांग्रेस नेता का बयान आया है. महाराष्ट्र के एक कांग्रेस नेता ने कंगना के बीफ सेवन पर सवाल उठाया है, कांग्रेस नेता ने कहा कि कंगना खुद सार्वजानिक मंच पर इस बात को स्वीकार कर चुकी हैं कि वो बीफ का सेवन करती हैं. कांग्रेस नेता के इस बयान पर भाजपा नेताओं ने ऐतराज़ जताया है हालाँकि कोई भी बीफ वाली बात का जवाब नहीं दे सका है.

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

केजरीवाल के बयान पर अमित शाह की सफाई, मोदी जी ही बनेगें प्रधानमंत्री

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने जेल से निकलने...

मर्यादा के चीरहरण पर क्यों चुप है चुनाव आयोग ?

पारुल सिंहलपांच पांडव कौरवों के साथ द्यूतक्रीड़ा में द्रौपदी...

सेंसेक्स-निफ़्टी बढ़त के साथ खुले

बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी 50 ने पिछले सत्र...