depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Rajasthan election: चुनाव प्रचार थमा, BJP और कांग्रेस ने झोकी ताकत; 25 को मतदान

नेशनलRajasthan election: चुनाव प्रचार थमा, BJP और कांग्रेस ने झोकी ताकत; 25...

Date:

Rajasthan Election 2023: राजस्थान में विधानसभा चुनाव प्रचार अभियान आज थम गया है। अब शनिवार 25 नवंबर को राज्य में मतदान होगा। पूरे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा ने पूरे जोर शोर के साथ अपना प्रचार किया। भाजपा की ओर से जहां पीएम मोदी से लेकर गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चुनाव प्रचार किया। वहीं कांग्रेस की तरफ से प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अलावा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, सांसद राहुल गांधी और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने चुनाव प्रचार का मैदान संभाला। चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था, लाल डायरी, परिवारवाद को लेकर कांग्रेस को घेरा, तो कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अदाणी, ओबीसी, जातीय जनगणना और Congress सरकार की उपलब्धियों को गिनाया।

पीएम मोदी-शाह ने इन मुद्दों पर कांग्रेस को घेरा

राजस्थान के प्रचार अभियान में पीएम मोदी ने लाल डायरी, पेपर लीक, गहलोत सरकार पर भ्रष्टाचार, मोदी गारंटी सब पर भारी, महिला अपराध और कानून व्यवस्था जैसे मुद्दों को जोर शोर अपनी चुनावी रैलियों में उठाया। पीएम ने चुनावी रैलियों में हर बार दोहराया कि कांग्रेस अपने वादों की लाल डायरी चाहे कहीं लेकर घूमती रहे, मोदी की गारंटी सब पर भारी है।
गृहमंत्री अमित शाह ने अपने सभी रोड शो और रैलियों में गांधी परिवार के अलावा अशोक गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने दोहराया कि राजस्थान विकास पर कांग्रेस और गांधी परिवार राहु-केतु हैं। इसलिए इस बार प्रदेश में भाजपा सरकार बनानी है। जिससे कि राजस्थान भी विकास के पथ पर अग्रसर हो।

गहलोत ने हर मु्द्दे का जवाब दिया

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में कांग्रेस की तरफ से सबसे अधिक जनसभाएं की। हर विधानसभा क्षेत्र में गहलोत सरकार की गारंटी और पांच साल में किए विकास कार्य गिनाते नजर आए। इसके अलावा हर सभा में कहते दिखे कि कांग्रेस सरकार फिर प्रदेश में काबिज होगी। इस बार प्रदेश में रिवाज बदलेगा। गहलोत ने अपनी चुनावी सभा में कहा कि भाजपा का देश में पांच लाख रुपए का बीमा है। वो कुछ लोगों के लिए है। हमारा वाला अमीर-गरीब सबके लिए है। वो भी 25 लाख रुपए का। इसे 50 लाख रुपए करने की गारंटी दे रहे हैं। भाजपा वाले केवल गाय की बात करते हैं। उन्होंने पांच साल में 500 करोड़ रुपए अनुदान दिया। मैंने पांच साल में 3 हजार करोड़ रुपए का अनुदान गौशालाओं के लिए दिया।

राहुल गांधी ने पनौती मोदी कहा, जातीय जनगणना का मुद्दा गरमाया

राहुल गांधी ने अपनी हर सभा में जातीय जनगणना और अदाणी मुद्दा गरमाया। इसी के साथ ही राहुल गांधी ने पीएम मोदी का नाम पनौती मोदी तक रख दिया। इस पर खूब बवाल हुआ। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि जेबकतरा अकेला नहीं आता। नरेंद्र मोदी का काम आपके ध्यान को इधर-उधर करना है। वो टीवी पर कहते हैं- थाली बजाओ, मोबाइल लाइट ऑन करो, हिंदू-मुस्लिम, नोटबंदी, मुझे फांसी लगा दो। ध्यान इधर-उधर करने वाला नरेंद्र मोदी, जेब काटने वाला अदाणी और लाठी मारने वाला अमित शाह।

प्रियंका गांधी ने इन मुद्दों पर किया फोकस, जनसभा में पीएम मोदी निशाने पर

राहुल ने अपनी रैली में दोहराया कि हिंदुस्तान को एमपी-एमएलए नहीं चला रहे। कैबिनेट सेक्रेटरी और पीएम नरेंद्र मोदी के साथ 90 अधिकारी देश चलाते हैं। बजट का पैसा स्वास्थ्य, शिक्षा, बीमा, रक्षा में कितना जाएगा, ये लोग ही इसका निर्णय ले रहे हैं। राजस्थान में कांग्रेस सरकार आएगी तो पहला काम राजस्थान में जाति जनगणना कराना होगा।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की जनसभा में पीएम मोदी निशाने पर रहे। प्रियंका ने पीएम मोदी से सवाल किए कि वे हिंसा प्रभावित मणिपुर क्यों नहीं गए। सभाओं में किसान आंदोलन की याद दिलाते हुए प्रियंका ने कहा काले कृषि कानूनों को लेकर किसान धरने पर बैठे। भाजपा मंत्री के बेटे ने किसानों को गाड़ी के नीचे रौंदा। मगर मंत्री को पद से नहीं हटाया। जैसे ही उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव नजदीक आए, ये कानून वापस ले लिए गए। महिला पहलवान सड़क पर बैठी, मोदी जी नहीं गए। लेकिन वहीं पहलवान जब मेडल जीतकर आईं, मोदी ने उनको घर बुलाया। महिला पर हो रहे अत्याचारों का जिक्र करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि भाजपा शासित प्रदेशों में महिलाओं पर बहुत अत्याचार हुए हैं। इस दौरान उन्होंने उत्तर प्रदेश में हाथरस और उन्नाव वारदात का जिक्र प्रियंका गांधी ने निशाना साधा।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

अजीब हाल है इंडिया गठबंधन का

अमित बिश्नोईइंडिया गठबंधन का भी अजीब हाल है, समझ...

कमर्शियल एलपीजी उपभोक्ताओं को मार्च के पहले दिन लगा झटका

मार्च महीने के पहले ही दिन रसोई गैस उपभोक्ताओं...

हिमाचल में राजनीतिक हंगामा, मंत्री विक्रमादित्य का इस्तीफ़ा

राज्यसभा चुनाव में हार मिलने के बाद हिमाचल प्रदेश...