depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

आई फ्लू से बचने के लिए करे ये उपाए

हेल्थआई फ्लू से बचने के लिए करे ये उपाए

Date:

इन दिनों मॉनसून के चलते देश के कई हिस्सों में आई फ्लू का प्रकोप जारी है. इन दिनों लगभग हर राज्य में ही आई फ्लू के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में इस संक्रमण से बचने के लिए जरूरी है कि सभी जरूरी दिशा-निर्देशों का ठीक से पालन किया जाए। तो अगर आप भी अपनी और अपनों कि सुरक्षा चाहते है तो आपको भी इन बातो का सख्ती से पालन करना पड़ेगा –

साफ-सफाई की आदत डालें

किसी भी तरह के संक्रमण से बचने के लिए साफ-सफाई बहुत जरूरी है। आई फ्लू से बचाव के लिए, अपने हाथों को बार-बार साबुन और पानी से कम से कम 30 सेकंड तक धोएं, खासकर तब जब आपके हाथो से आँखों को या नाक को या मुह को छूआ हो।

निकट संपर्क से बचें

उन लोगों के साथ निकट संपर्क से बचने की कोशिश करें जिन्हें आंखों में संक्रमण या सर्दी जैसे लक्षण हैं। आंखों का संक्रमण अत्यधिक संक्रामक हो सकता है।

पर्सनल चीजें को शेयर करने से बचे

कंजक्टिवाइसिस को रोकने के लिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी व्यक्तिगत वस्तुओं जैसे तौलिए, तकिए, आई ड्रॉप या मेकअप को दूसरों के साथ साझा करने से बचें, क्योंकि ये चीजें आसानी से संक्रमण फैला सकती हैं।

स्वच्छ

अपनी आंखों के संपर्क में आने वाली वस्तुओं, जैसे चश्मा, कॉन्टैक्ट लेंस और उनके केस को नियमित रूप से साफ और स्वच्छ करें।

अपनी आँखें मलने से बचें

आई फ्लू से बचने के लिए जरूरी है कि आप अपनी आंखों को रगड़ने से बचें। दरअसल, आंखें रगड़ने से आपके हाथों से बैक्टीरिया या वायरस आपकी आंखों में स्थानांतरित हो सकते हैं, जिससे संक्रमण का खतरा अधिक हो जाता है।

बीमार होने पर घर पर रहें

यदि आपमें आंखों के संक्रमण या बीमारी के लक्षण हैं, तो रोगाणुओं को फैलने से रोकने के लिए काम, स्कूल या सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचें।

चिकित्सक से सलाह लें

यदि आपको आंखों में संक्रमण के लक्षण जैसे लालिमा, पानी आना, खुजली, जलन, डिस्चार्ज या धुंधली दृष्टि का अनुभव हो तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें।

इन चीजों से बचें

सीधा संपर्क

किसी संक्रमित व्यक्ति की आंखों से निकलने वाले तरल पदार्थ या स्राव के संपर्क में आने से आई फ्लू आसानी से फैल सकता है। ऐसे में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ऐसे लोगों के सीधे संपर्क में आने से बचें जो संक्रमित हैं या फिर आप खुद संक्रमित हैं।

अप्रत्यक्ष संपर्क

आंखों का संक्रमण अप्रत्यक्ष रूप से भी फैल सकता है। उदाहरण के लिए, किसी संक्रमित व्यक्ति द्वारा दरवाज़े के हैंडल, सबवे हैंडल या रेलिंग आदि को छूने से उस सतह पर वायरस या बैक्टीरिया रह जाते हैं। ऐसे में सार्वजनिक स्थानों पर इन चीजों को छूने से बचें या सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

स्विमिंग पूल और हॉट टब से दूरी बनाएं

कुछ प्रकार के आई फ्लू स्विमिंग पूल या हॉट टब में दूषित पानी से फैल सकते हैं, खासकर अगर पानी नहीं बदला गया हो। ऐसे में संक्रमण से बचने के लिए बेहतर है कि कुछ दिनों तक ऐसी जगहों पर जाने से बचे ।

भीड़ से दूर रहें

कुछ नेत्र फ्लू वायरस, जैसे एडेनोवायरस, हवा के माध्यम से फैल सकते हैं। ऐसे वायरस विशेष रूप से भीड़-भाड़ वाले या कम हवादार इलाकों में पाए जाते हैं। इसलिए कोशिश करे की भीड़-भाड़ वाली जगहों पर न ही जाये।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

ईपीएफओ खाताधारकों के लिए केंद्र का बड़ा एलान, ब्याज दर बढ़ाने को दी मंजूरी

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को ईपीएफओ खाताधारकों के...

नीट पर फैसला सभी पक्षों को सुनने के बाद, सुप्रीम कोर्ट में आज हुई सुनवाई

मेडिकल प्रवेश परीक्षा से जुड़े नीट यूजी 2024 परीक्षा...

पीएलआई योजना के तहत दूरसंचार उपकरण विनिर्माण की बिक्री 50,000 करोड़ रुपये के पार

संचार मंत्रालय के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक दूरसंचार उपकरण...

मणिपुर से सीधे रायबरेली पहुंचे राहुल गाँधी

लोकसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस सांसद राहुल...