depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

DOMS Industries IPO: बाजार में निवेशकों को कमाई करवाने आ रहा एक और आईपीओ

नेशनलDOMS Industries IPO: बाजार में निवेशकों को कमाई करवाने आ रहा एक...

Date:

DOMS Industries IPO: DOMS Industries कंपनी का रेवेन्यू 1212 करोड़ रुपए और शुद्ध लाभ 96 करोड़ रुपए था। उम्मीद है कि निवेशक DOMS Industries के आईपीओ को निवेशक हाथों हाथ लेंगे। देश की दूसरी सबसे बड़ी पेंसिल और स्टेशनरी आइटम्स बनाने वाली कंपनी डॉम्स इंडस्ट्रीज DOMS Industries आईपीओ पर सबकी नजर है। मुनाफे वाली कंपनी का आईपीओ 12 दिसंबर को आ रहा है। यह 15 दिसंबर को बंद हो जाएगा। हाल में एक और जानी-मानी स्टेशनरी आइटम्स बनाने वाली कंपनी फ्लेयर के आईपीओ (Flair IPO) को निवेशकों ने हाथों हाथ लिया था। उम्मीद जताई जा रही है कि डॉम्स इंडस्ट्रीज के शेयर निवेशकों को फायदा पहुंचा सकते हैं।

तेजी से बढ़ रहा डॉम्स इंडस्ट्रीज का रेवेन्यू

स्टेशनरी आइटम्स के बाजार के 16 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद जताई है। ऐसे में इस आईपीओ पर पैसा बरसने की पूरी उम्मीद की जा रही है। वित्त वर्ष 2022 में कंपनी का रेवेन्यू 683.6 करोड़ रुपए था। जो वित्त वर्ष 23 के अंत तक तेजी से बढ़कर 1212 करोड़ रुपये हो चुका था। कंपनी का शुद्ध लाभ 96 करोड़ रुपए था।

T+3 रूल में आईपीओ लाने वाली पहली कंपनी

देश में स्टेशनरी प्रोडक्ट बाजार लगभग 38 हजार करोड़ रुपए का है। डॉम्स इंडस्ट्रीज के आईपीओ का साइज 1200 करोड़ रुपये होगा। इसमें फ्रेश इशू 350 करोड़ और ऑफर फॉर सेल 850 करोड़ रुपए का है। डोम्स इंडस्ट्रीज T+3 टाइमलाइन में शेयर बाजार आईपीओ लाने वाली पहली कंपनी बनेगी। अभी तक कंपनियां आईपीओ लाने पर T+6 फॉर्मेट का उपयोग करती हैं। मगर, सेबी ने 1 दिसंबर, 2023 से नए नियम लागू कर दिए हैं।

प्रमोटरों की हिस्सेदारी 75 प्रतिशत रहेगी

डॉम्स इंडस्ट्रीज में पार्टनर और इटली की कंपनी फिला (Fabbrica Italiana Lapis ed Affini) इस आईपीओ के जरिए अपना कुछ हिस्सा बेचकर 800 करोड़ रुपए इकठ्ठा करेगी। फिला की कंपनी में 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है। प्रमोटर संतोष रसिकलाल रवेशिया, केतन मनसुखलाल रजनी, संजय मनसुखलाल रजनी और चांदनी विजय सोमैया अपनी हिस्सेदारी बेचकर 400 करोड़ रुपए बनाएंगे। आईपीओ के बाद कंपनी में फिला समेत सभी प्रमोटरों की हिस्सेदारी 75 प्रतिशत रहेगी।

नया प्लांट बनाएगी कंपनी

आईपीओ से होने वाली कमाई का इस्तेमाल कंपनी नया प्लांट बनाने में करेगी। इस प्लांट से कंपनी अपने प्रोडक्ट्स की उत्पादन क्षमता बढ़ाएगी। हाल में कंपनी ने इसके लिए 40 एकड़ जमीन खरीदी है। कंपनी में फिलहाल 15 हजार से अधिक कर्मचारी हैं। आईपीओ में रिटेल इनवेस्टर्स के लिए 10 प्रतिशत शेयर रखे हैं। गुजरात के वलसाड का उम्बरगांव कस्बा देश के पेंसिल टाउन के रूप में जाना जाता है। यहां देश की दो दिग्गज कंपनियों का मुख्यालय है। हिन्दुस्तान पेंसिल्स (Hindustan Pencils) के पास सेगमेंट की 40 प्रतिशत और डॉम्स के पास 30 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

पारिश्कृत आंकड़े किसे कहते हैं? उनका अर्थ और प्रकार

Parishkrit aankde kise kahate hain: दोस्तों, क्या आपने कभी...

इंडिया अलायन्स में बनती बातें!

अमित बिश्नोईउत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी से सीट शेयरिंग...

बाबर आजम सबसे तेज 10 हज़ार टी20 रन बनाने वाले क्रिकेटर बने

पाकिस्तान के टॉप बल्लेबाज बाबर आजम ने एक और...