depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

नए साल में बदल जायेंगे पैसों से जुड़े बहुत से काम

फीचर्डनए साल में बदल जायेंगे पैसों से जुड़े बहुत से काम

Date:

नए साल की शुरुआत से आपके जीवन में बहुत कुछ बदल जाता। आपके बटुए का आकार बदल जाता है. अधिकांशतयः आप खर्च बढ़ जाता है, साथ ही कहीं कुछ राहत भी मिल जाती है। हमेशा की तरह इस साल यानि 2024 के पहले दिन से ये बदलाव नज़र आने वाले हैं जो पैसों से जुड़े हैं. इनमें आपका एलपीजी सिलेंडर, छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज, मंहगाई भत्ता, इनकम टैक्स रिटर्न, बैंक लॉकर और UPI आईडी शामिल हैं। तो चलिए एक एक कर इनके बारे में जानते हैं।

शुरुआत आयकर रिटर्न से करते हैं, अगर आप ITR भरते हैं तो आपको मालूम ही होगा कि वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए विलंबित या संशोधित आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर, 2023 है। इसके बाद आप वित्त वर्ष 2022-23 के लिए आईटीआर दाखिल नहीं कर पाएंगे. अगर आप ऐसा करने में नाकाम रहे तो आपके खिलाफ आयकर अधिनियम की धारा 234F के तहत कार्रवाई की जा सकती है, जेल भी जाना पड़ सकता है.

विधानसभा चुनावों ने सस्ते एलपीजी सिलेंडर का रास्ता खोल दिया है तो वादे के मुताबिक राजस्थान के उज्ज्वला लाभार्थियों को 1 जनवरी से सस्ता एलपीजी सिलेंडर मिलेगा। इसके अलावा महीने की पहली तारीख को सरकारी तेल कंपनियां घरेलू और कमर्शियल सिलेंडर के दाम भी तय करती हैं, शायद वहां से कुछ अच्छी खबर आ जाय जो आपके बटुए को अच्छी लगे।

लघु बचत योजना पर ब्याज पर केंद्र सरकार ने हाल ही में जनवरी से मार्च 2024 के लिए छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों की घोषणा की है। इसमें सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज दर में 0.20 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। इसके साथ ही 3 साल की सावधि जमा पर ब्याज दर 0.10 फीसदी बढ़ा दी गई है. सरकारी कर्मचारियों को मिलने वाला महंगाई भत्ता 1 जनवरी से लागू हो जायेगा. हालांकि इसकी घोषणा मार्च में हो सकती है, माना जा रहा है कि इस बार डीए 4 फीसदी तक बढ़ सकता है.

अब कार खरीदने की सोच रहे लोगों के लिए खबर, तो जानकारी के मुताबिक नए साल में कई बड़ी कार कंपनियां अपने वाहनों की कीमतें बढ़ाने की तैयारी में हैं। ऑडी 1 जनवरी से भारत में अपनी गाड़ियों की कीमतें 2 फीसदी तक बढ़ा रही है. मारुति सुजुकी, हुंडई और मर्सिडीज जैसी कंपनियां भी कीमतें बढ़ाने की तैयारी में हैं. संशोधित बैंक लॉकर समझौता जमा करने की समय सीमा 31 दिसंबर, 2023 है। अगर आपने 31 दिसंबर, 2022 को या उससे पहले बैंक लॉकर समझौता जमा कर दिया है और आप इस समय सीमा से चूक जाते हैं तो नए साल में आपका लॉकर फ्रीज हो सकता है।

इसके अलावा एक महत्वपूर्ण जानकारी ये है कि एक साल से अधिक समय से इस्तेमाल नहीं की गई यूपीआई आईडी अब निष्क्रिय हो जाएगी। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने नए साल में पेमेंट ऐप्स से ऐसा करने को कहा है। अगर आपने पिछले एक साल से अपनी यूपीआई आईडी का इस्तेमाल नहीं किया है तो एक बार इससे लेनदेन फ़ौरन कर लें वरना यूपीआई आईडी खतरे में पड़ जाएगी।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

10 लाख की आय पर जीरो टैक्स कैसे? ऐसे

मार्च का महीना टैक्स payers के लिए सबसे अहम...

सोमवार को शेयर बाजार में हावी रही बिकवाली

भारतीय शेयर बाजार हफ्ते के पहले कारोबारी दिन सोमवार...

BPM का फुल फॉर्म क्या है?

BPM Full form In Hindi: दोस्तों, आजकल हम अपनी...

अजीब हाल है इंडिया गठबंधन का

अमित बिश्नोईइंडिया गठबंधन का भी अजीब हाल है, समझ...