depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Goa News: गोवा जा रहे हैं तो जान ले सरकार का ये नया फरमान, खाने को लेकर बने नए नियम

ट्रेवलGoa News: गोवा जा रहे हैं तो जान ले सरकार का ये...

Date:

Goa Visit: गोवा घूमने जा रहे हैं तो ये खबर आपके लिए जरूरी है। गोवा में अब खाने को लेकर भी नियमों में बदलाव हुआ है। गोवा में समुद्र तटों पर बनी दुकानों को मछली और चावल बेचना जरूरी होगा। गोवा सरकार ने ये निर्देश जारी किए हैं। सरकार का कहना है कि इससे राज्य के मुख्य भोजन को बढ़ावा मिलेगा। इसी के साथ यहां आने वाले पर्यटक गोवा के मुख्य भोजन का लुत्फ उठा सकेंगे। सरकार का फैसला राज्य की नई नीति का हिस्सा है।

गोवा में समुद्र तटों पर मौजूद दुकानों को अब दूसरे व्यंजनों के साथ मछली करी-चावल परोसना जरूरी होगा। राज्य के पर्यटन मंत्री रोहन खौंटे के अनुसार दुकानदारों को भारतीय और अंतरराष्ट्रीय व्यंजनों के साथ मछली करी-चावल अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि मछली करी-चावल राज्य का प्रमुख भोजन है। ऐसे में गोवा आने वाले पर्यटकों को इस खाने का जरूर परोसना चाहिए।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि राज्य के व्यंजनों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कदम उठाया गया है। इसके तहत तीखे, चटपटे और मसाले वाले, नारियल डालकर तैयार किए व्यंजन को यहां के मेन्यू में शामिल किया है। जो राज्य की नई शैक नीति का हिस्सा है।

‘मछली करी- चावल’ बेचना होगा जरूरी

मंत्री रोहन खौंटे ने कहा कि अभी समुद्र के किनारे मौजूद दुकानों में अधिकांश उत्तर भारतीय भोजन मिलता था। इन दुकानों में गोवा के व्यंजन नहीं मिलते थे। लेकिन अब गोवा सरकार के इस फैसले के बाद दुकानों में गोवा के इस परंपरागत भोजन को अनिवार्य किया गया है। इससे गोवा आने वाले पर्यटक राज्य के मशहूर व्यंजनों से रूबरू होंगे। उन्होंने बताया कि ‘शैक नीति’ के तहत तटों पर अवैध रेहड़ी और पटरी लगाने जैसी परेशानियों की समस्या से निजात मिल सकेगी।

दुकानदारों को देनी होगी कर्मचारियों की जानकारी

उन्होंने कहा कि शैक नीति को हाल में कैबिनेट से पारित किया है। नई नीति के अनुसार अब सभी दुकानदारों को काम करने वाले कर्मचारियों की विभाग को जानकारी देनी होगी। उन्होंने कहा कि जो समुद्र किनारे अवैध काम करेगा या किसी अवैध गतिविधियों में शामिल होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

मात्रा से अधिक गुणवत्ता पर ध्यान देना उद्देश्य

इसके अलावा उन्होंने बताया कि दुकानदारों के साथ विभाग पूरा सहयोग कर रहा है। मंत्री ने कहा राज्य सरकार का उद्देश्य मात्रा से अधिक गुणवत्ता पर ध्यान देना है। उन्होंने कहा कि राज्य विकास के लिए पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अधिक प्रयास करना होगा। जिसके लिए सभी का मिलकर एक साथ काम करना जरूरी है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

बजट 2024: स्वास्थ्य क्षेत्र की उम्मीद भरी नज़रें वित्त मंत्री पर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 23 जुलाई को आम बजट...

बजट 2024: वित्त वर्ष 2025 के लिए राजकोषीय घाटे का लक्ष्य घटाकर 4.9%

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 23 जुलाई को 2024-25...

कुपवाड़ा: आतंकवादियों से मुठभेड़ में एक और जवान शहीद

भारतीय सेना के गैर-कमीशन अधिकारी (एनसीओ) ने बुधवार को...

बजट 2024: पांच साल में 4.1 करोड़ युवाओं को मिलेगा फायदा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज अपने बजट भाषण...