depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

योगी सरकार के संरक्षण में चल रहा है अवैध शराब का कारोबार: अखिलेश यादव

फीचर्डयोगी सरकार के संरक्षण में चल रहा है अवैध शराब का कारोबार:...

Date:


योगी सरकार के संरक्षण में चल रहा है अवैध शराब का कारोबार: अखिलेश यादव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में जहरीली शराब से हुई मौतों पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को आरोप लगाया कि प्रदेश में अवैध शराब का कारोबार सरकार के संरक्षण में चल रहा है।

दुगनी रफ्तार से चल रहा है जहरीली शराब का धंधा
उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री के ‘‘जहरीली शराब का धंधा दुगनी रफ्तार से चल रहा है और अब तक दर्जनों लोग जहरीली शराब पीकर अपनी जान गंवा बैठे हैं। शराब माफियाओं के हौंसले इतने बढ़े हुए हैं कि वे सरकारी कायदे कानूनों को ठेंगा दिखाते हुए तस्करी और अवैध शराब की बिक्री खुलेआम” कर रहे हैं।

भाजपा नेताओं ने ले रखे हैं ठेके
प्रेस को जारी बयान में अखिलेश ने कहा, ‘‘सच तो यह है कि प्रदेश में पुलिस और आबकारी विभाग की जानकारी में ही अवैध ढंग से शराब की तस्करी और जहरीली शराब बनाने और बेचने का काम हो रहा है। फूलपुर कोतवाली क्षेत्र में देशी शराब के ठेके से शराब ले जाकर पीने से इमलिया गांव के सात लोगों की मौत हो गई और कई ग्रामीणों की हालत गम्भीर हैं। बाराबंकी के कोठी थाना क्षेत्र में भाजपा नेता ने उधार शराब न देने पर सेल्समैन की पिटाई कर दी। कई ठेके भाजपा नेताओं ने ले रखे हैं। वे भी जल्दी माल कमाने के फेर में दिखाई देते हैं। बाराबंकी में 12 लोगों की मौत हुई है।”

घटनाओं से कोई सबक नहीं
बयान में कहा गया कि जहरीली शराब पीकर हापुड़ कोतवाली क्षेत्र में 12 लोगों की मौत हुई। सहारनपुर में 64 मौतें हुई, जबकि फिरोजाबाद में दो लोग मारे गए। प्रयागराज के फूलपुर क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत हो गई। इटावा, रामपुर और जालौन में भी मौतें हुई है। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब पीने से मौत होने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। पहले भी कई दर्दनाक घटनाएं हो चुकी हैं, परन्तु कोई इनसे सबक नहीं लेता है।

संवेदनहीन सरकार
यादव ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार की संवेदनहीनता की हद है कि नकली शराब का धंधा करने वालों पर नकेल कसने में वह अब तक गम्भीर नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने नकली शराब के कारोबारियों को खत्म करने की दिशा में ठोस कदम नहीं उठाए हैं और सरकार को इसमें विभागीय संलिप्तता की भी जांच कर कठोर कार्रवाई करनी चाहिए।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

माइक्रोसॉफ्ट में गड़बड़ी: हवाईअड्डों पर तकनीकी दिक्कतें, एयरलाइन्स की चेक-इन प्रभावित

मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु एयरपोर्ट समेत पूरे भारत के एयरपोर्ट...

Microsoft आउटेज: 8.5 मिलियन विंडोज डिवाइसों को प्रभावित किया

माइक्रोसॉफ्ट ने शनिवार को जानकारी दी कि ClowdStrike अपडेट...