depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

दिल्ली-मेरठ-गाज़ियाबाद RRTS कॉरिडोर पर सोलर प्लांट से पैदा होगी हर साल 50,000 यूनिट बिजली

उत्तर प्रदेशदिल्ली-मेरठ-गाज़ियाबाद RRTS कॉरिडोर पर सोलर प्लांट से पैदा होगी हर साल 50,000...

Date:

Delhi-Meerut-Ghaziabad RRTS Corridor: दिल्ली-मेरठ-गाज़ियाबाद आरआरटीएस कॉरिडोर पर प्रायोरिटी सेक्शन से आगे के सेक्शन में निर्मित मुराद नगर रिसीविंग सब स्टेशन (आरएसएस) से मुराद नगर स्टेशन के सहायक सब स्टेशन (एएसएस) में 33 केवी की क्षमता पर विद्युत सप्लाई आरंभ कर दी गई है। मुराद नगर आरएसएस को प्रायोरिटी सेक्शन से आगे मेरठ की दिशा में मुरादनगर, मोदी नगर साउथ, मोदी नगर नॉर्थ, मेरठ साउथ और परतापुर स्टेशन तक विद्युत आपूर्ति के लिए बनाया गया है। इस आरएसएस की क्षमता 70 मेगावाट है, जिसके लिए यहां कुल 4 ट्रांस्फ़ार्मर्स लगाए गए हैं। मुराद नगर आरएसएस में विद्युत सप्लाई आरंभ होने के साथ ही मुरादनगर आरएसएस से मोदी नगर साउथ स्टेशन तक विद्युत सप्लाई के लिए 33 केवी की केबल भी डाल दी गई है और जल्दी ही मोदी नगर साउथ स्टेशन के एएसएस में भी विद्युत आपूर्ति आरंभ कर दी जाएगी।

यूपीपीटीसीएल के ग्रिड सबस्टेशन से 220kV वोल्टेज

इस सेक्शन में विद्युत आपूर्ति के लिए उत्तर प्रदेश में उत्तर प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीटीसीएल) से करार किया गया है। यूपीपीटीसीएल के ग्रिड सबस्टेशन से 220kV वोल्टेज पर बिजली एनसीआरटीसी के मुराद नगर स्थित रिसीविंग सब स्टेशन तक आ रही है और यहाँ से यह 25kV की बिजली ट्रेनों के संचालन के लिए और 33kV की बिजली आरआरटीएस स्टेशनों की अन्य जरुरतों के लिए इस्तेमाल की जाएगी।
25kV और 33kV वोल्टेज के केबल आरआरटीएस के वायडक्ट पर एक साथ इन्स्टाल किए जा रहे हैं। आरएसएस से 25kV वाली केबल को फीडिंग पोस्ट पर लगाकर पोल एवं कैंटिलिवर द्वारा ट्रेन चलाने के लिए लगे ओवर हेड वायर (OHE) और 33kV वाली केबल को आरआरटीएस स्टेशनों तक पहुंचाने का कार्य प्रगति पर है। उच्च गुणवत्ता व क्षमता वाले ये ओवरहेड वायर ट्रेन को पूरी डिज़ाइन स्पीड से दौड़ाने मे समर्थ होंगे।

एस्कलेटर्स की कमीशनिंग भी शुरू हो गई

वर्तमान में सबसे पहले मुराद नगर स्टेशन में विद्युत आपूर्ति आरंभ करके यहाँ स्थापित सभी विद्युत उकरणों को संचालित किया जा रहा है। इसके साथ ही मुरादनगर स्टेशन में कॉनकोर्स लेवल से प्लेटफॉर्म लेवल तक आवागमन के लिए लगाए गए एस्कलेटर्स की कमीशनिंग भी शुरू हो गई है।
उल्लेखनीय है कि ग्रीन एनर्जी के उपयोग को बढ़ावा देने की दिशा में एनसीआरटीसी द्वारा हाल ही में मुराद नगर रिसीविंग सब स्टेशन (आरएसएस) में सोलर प्लांट भी स्थापित किया गया है। यह सोलर पावर प्लांट मुराद नगर रिसीविंग सब-स्टेशन (आरएसएस) की छत पर स्थापित किया गया है, जहां कुल 540 वाट के 80 सोलर पैनल लगाए गए हैं। इन पैनलों का आकार लगभग 2.2 x1.2 मीटर है। मुराद नगर आरएसएस की छत पर लगाए गए इस सोलर प्लांट से हर साल लगभग 50,000 यूनिट बिजली पैदा की जा सकती है।

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ RRTS कॉरिडोर पर 5 RSS

इस प्लांट से पैदा होने वाली बिजली से मुराद नगर आरएसएस की आंतरिक विद्युत आपूर्ति की पूर्ति की जा रही है। आरएसएस में विद्युत आपूर्ति करने के बाद बचने वाली विद्युत को आरआरटीएस कॉरिडोर के अन्य स्थानो पर इस्तेमाल किया जा सकेगा। सके अतिरिक्त RRTS कॉरिडोर के स्टेशनों, डिपो व अन्य स्थानों पर भी सोलर पैनल लगाने का कार्य चल रहा है। सम्पूर्ण दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर पर विद्युत आपूर्ति के लिए कुल 05 आरएसएस (RSS) दिल्ली के सराय काले खां, ग़ाज़ियाबाद, मुरादनगर और मेरठ के शताब्दीनगर व मोदीपुरम में स्थापित किये जा रहे हैं, जिनमें से गाजियाबाद और मुराद नगर आरएसएस बनकर तैयार हो चुके हैं। एनसीआरटीसी अपने सभी विद्युत् सब स्टेशनों, आरआरटीएस स्टेशनों एवं डिपो में रेन वाटर हार्वेस्टिंग, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, हरित क्षेत्र, एलईडी बल्ब, प्राकृतिक रौशनी और वातानुकूलक का प्रयोग भी सुनिश्चित कर रहा है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

मुनाफावसूली के मूड में खुला शेयर बाजार

हफ्ते के पहले कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार में...

बैंक फ्रॉड से बचना आसान अगर रखें इन बातों का ख्याल

जैसे जैसे ऑनलाइन लेनदेन बढ़ रहा है बैंकिंग फ्रॉड...

अमिताभकांत का दावा, 11 प्रतिशत की दर से आगे बढ़ेगा भारत

नीति आयोग के पूर्व सीईओ अमिताभ कांत ने दावा...

अवैध माइनिंग केस में सीबीआई ने अखिलेश को भेजा समन

समाजवादी पार्टी को राज्यसभा चुनाव में अभी कल उनके...