depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Havoc rains Floods: बारिश से 24 घंटे में 16 मौत, कुल्लू में सैलानी फंसे; चारधाम यात्रा बाधित

उत्तर प्रदेशHavoc rains Floods: बारिश से 24 घंटे में 16 मौत, कुल्लू में...

Date:

Havoc rains Floods: पिछले कई दिन से हो रही मूसलाधार बारिश से पहाड़ों से लेकर मैदान तक बाढ़ जैसे हालात हैं। पहाड़ों पर बारिश का कहर टूट रहा है। उत्तराखंड और हिमाचल में बारिश ने तबाही मचाई है। गंगा, यमुना और ब्यास सहित देश की सभी प्रमुख नदियां उफान पर हैं। गांवों, कस्बों, शहरों और खेतों में पानी घुस गया है। भारी बारिश के बाद यूपी, दिल्ली, पंजाब-हरियाणा सहित मैदानी राज्यों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। राजस्थान से लेकर पहाड़ी राज्यों तक में गंगा, यमुना और ब्यास सहित प्रमुख नदियां उफान पर हैं। बारिश और बाढ से हजारों हेक्टेयर फसलें नष्ट हो गई हैं। पहाड़ों पर बारिश का कहर बना है। हिमाचल के कुल्लू के पर्यटन स्थलों मनाली, मणिकर्ण व बंजार में 17 हजार से अधिक सैलानी फंसे हैं। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा बाधित हो गई है।

बारिश और बाढ़ से देश में 24 घंटे में 16 लोगों की मौत हुई है। इनमें 8 मौतें उत्तराखंड और 4 यूपी में हुई हैं। हिमाचल में बारिश और भूस्खलन से तीन दिन में 31 मौत हो चुुकी हैं। भूस्खलन से मनाली-लेह, जम्मू-श्रीनगर हाईवे, मनाली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे सहित 1,500 से अधिक सड़कें बंद हैं।

वहीं हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से 3.59 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से दिल्ली में यमुना का जलस्तर और अधिक बढ़ा है। यमुना व घाघरा में बाढ़ से हरियाणा के पानीपत में नवादा व तामशाबाद में बांध टूट गया है। हिसार, कुरुक्षेत्र, भिवानी, करनाल और यमुनानगर के सैकड़ों गांवों में पानी घुसा है। हिसार से अंबाला राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कई सड़कें बंद हो गई हैं।

उत्तराखंड और हिमाचल में Havoc rains अलर्ट

हिमाचल में 1,318 सड़कें बारिश के चलते बंद कर दी गईं हैं। उत्तराखंड में 273 सड़कें भूस्खलन और बारिश के कारण बंद हैं। उत्तरकाशी में गंगोत्री हाईवे पर जगह—जगह भूस्खलन हुआ है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने हिमाचल, उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है
चीन सीमा में बने जोशीमठ-मलारी हाईवे पर जुम्मा पुल बह गया है। इससे सेना और ग्रामीणों की आवाजाही रुक गई है। पंजाब व हरियाणा में अंबाला-लुधियाना सहित प्रमुख हाईवे बंद हैं। अंबाला में गुरुकुल हॉस्टल में तीन फुट पानी भर गया है। राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार की रात यमुना का पानी 206.76 मीटर पर पहुंचा गया। जो 10 साल के उच्च स्तर पर है। इससे पहले 2013 में जल स्तर 207.32 मीटर पर पहुंचा था। निचले इलाकों से सुरक्षित स्थानों पर लोगों को पहुंचा दिया गया है। लाल किला के पास पुराने लोहे के पुल से रेल व वाहन संचालन बंद किया है।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

योगी के खिलाफ क्या पक रही है कोई खिचड़ी?

अमित बिश्नोईसरकार संगठन से बड़ी कभी नहीं हो सकती।...