Site icon Buziness Bytes Hindi

Meat Mafia Yakub Qureshi : मीट माफिया याकूब कुरैशी फर्जी मीट कंपनी संचालित कर कमा रहा था करोड़ों, पुलिस जांच में हुआ खुलासा

मेरठ। भगोड़ा मीट माफिया याकूब कुरैशी पर अब पुलिस का शिकंजा पूरी तरह से कस चुका है। पूर्व मंत्री और मीट माफिया याकूब कुरैशी अपनी मीट कंपनी अल फहीम मीटेक्स प्राइवेट लिमिटेड के अलावा तीन अन्य मीट कंपनी फर्जी तरीके से संचालित कर रहा था। इन फर्जी कंपनियों के माध्यम से याकूब कुरैशी मीट का एक्सपोर्ट विदेश में कर रहा था। कागजों में ये फर्जी मीट कंपनियां भगोड़े याकूब कुरैशी के परिवार के नाम पर कागजों में चल रही थी। बताया जा रहा है कि इनके माध्यम से याकूब टैक्स चोरी कर मीट को बाहर एक्सपोर्ट कर रहा था। 

Also Read : Fire Accident Ghaziabad: शापिंग कांम्पलेक्स में लगी भीषण आग, खाली कराई गई आसपास की हाईराइस बिल्डिंग

बता दें कि गत 31 मार्च को हापुड़ रोड स्थित याकूब कुरैशी की अनाधिकृत अल फहीम मीट फैक्ट्री में छापेमारी के दौरान पांच करोड़ रुपये कीमत का अवैध मीट पकड़ा था। पुलिस ने इसके बाद याकूब कुरैशी उनकी पत्नी शमजिदा के अलावा दोनों बेटों इमरान और के साथ ही मैनेजर मोहित त्यागी समेत 17 लोगों को आरोपी बनाया था। इस मामले में रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से मीट माफिया याकूब कुरैशी के अलावा उसके दोनों बेटे इमरान,फिरोज अभी फरार है। हालांकि याकूब कुरैशी के घर कुर्की का नोटिस चस्पा हो चुका है। पुलिस ने कुर्की की तैयारी कर ली है। जबकि उसकी पत्नी शमजिदा को अग्रिम जमानत मिल गई है।

इस पूरे मामले में एएसपी चंद्रकांत मीणा ने बताया कि जांच में पता चला कि याकूब कुरैशी अल फहीम मीटेक्स की आड़ में चार अन्य फर्जी कंपनी चला रहा था। जिसमें से दो में याकूब का परिवार शेयर धारक है। जबकि इनके अलावा जांच में सामने आई अल फोजान कंपनी याकूब के बेटे इमरान के बेटे फोजान के नाम पर है। पुलिस के अनुसार अल फोजान टैक्स बचाने के लिए खोली गई थी। जबकि अल कय्यूम मीटेक्स और कैराना स्थित मीम एग्रो फूडस प्राइवेट लिमिटेड में याकूब के परिवार और रिश्तेदारों के शेयर बताए जा रहे हैं। इन चारों कंपनियों के सामने आने के बाद पुलिस ने अब कंपनियों की डिटेल हासिल कर ली है। माना जा रहा है कि अब दो कंपनियों को सील किया जाएगा। जबकि कागजों में चल रही कंपनियों का लाइसेंस निरस्त कराया जाएगा।

Also Read : Kanpur News Today: थाने में तैनात कांस्टेबल की कमरे में गला रेतकर हत्या, अधिकारी मौके पर

अल फहीम मीटेक्स प्राइवेट लिमिटेड का नाम याकूब के पिता फहीम के नाम पर था। जबकि अल फोजान मीटेक्स कंपनी का नाम इमरान कुरैशी के बेटे फोजान के नाम है। तीसरी कंपनी अल कय्यूम का नाम याकूब कुरैशी के भाई कय्यून के नाम पर है। पुलिस मीम एग्रो की पड़ताल कर रही है कि इसका नाम किस आधार पर रखा गया। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि याकूब कुरैशी का परिवार अल फहीम मीटेक्स कंपनी की आड़ में फर्जी तरीके से मीट की तीन कंपनी संचालित कर रहा था। पुलिस ने सभी कंपनी का रिकार्ड जुटा लिया है। जल्द ही इन पर कार्रवाई की जाएगी।

Exit mobile version