Encounter in Moradabad: सीएम के मुरादाबाद पहुंचने से पहले मुठभेड़ में एक लाख का इनामी जफर दबोचा

उत्तर प्रदेशEncounter in Moradabad: सीएम के मुरादाबाद पहुंचने से पहले मुठभेड़ में एक...

Date:

मुरादाबाद। उत्तराखंड के भरतपुर गांव में मुरादाबाद पुलिस टीम पर हमला का फरार आरोपी खनन माफिया जफर आज शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। जफर को पैर में गोली लगी। जफर पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद पुलिस ने मुठभेड़ के बाद एक लाख रुपये के इनामी खनन माफिया जफर को गिरफ्तार कर लिया। जफर पर एक लाख रुपये का इनाम था। वह उत्तराखंड के उधम सिंह नगर के भरतपुर से यूपी पुलिस पर हमला कर भागा था। मुरादाबाद एसपी अखिलेश भदौरिया ने ये पुष्टि की है।

बता दें कि सीएम योगी आदित्य नाथ के मुरादाबाद पहुंचने से पहले एक लाख के इनामी जफर को पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया है। जफर के पैर में गोली लगी है। पाकबड़ा क्षेत्र में आज शनिवार सुबह मुठभेड़ में एक सिपाही जख्मी हुआ है। पुलिस ने दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। आरोपी जफर बुधवार रात उत्तराखंड के भरतपुर गांव में यूपी पुलिस टीम पर हमला कर फरार हुआ था।

ठाकुरद्वारा में 13 सितंबर 2022 को खनन माफिया और उसके गुर्गे एसडीएम और खनन अधिकारी पर हमला करके डंपर छुड़ा ले गए थे। मामले में ठाकुरद्वारा में पांच नामजद और 150 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया था। पुलिस अब तक 17 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। डिलारी काकरखेड़ा निवासी जफर और ठाकुरद्वारा के रतूपुरा निवासी दिलशाद फरार चल रहे थे। दोनों पर 50- 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। 12 अक्टूबर की शाम को पांच बजे जफर ठाकरद्वारा में कमालपुरी चौराहे के पास पुलिस और एसओजी के ऊपर फायरिंग कर उत्तराखंड में घुस गया था।

पुलिस टीम उसका पीछा करते हुए उत्तराखंड की सीमा में पहुंच गई थी। इसी दौरान आरोपी उत्तराखंड के भरतपुर गांव में गुरताज सिंह भुल्लर के मकान में घुस गया। पुलिस टीम यहां पहुंच गई। लोगों ने टीम पर हमलाकर जफर को छुड़ा लिया। इस दौरान फायरिंग हुई थी। जिसमें एक महिला की मौत हो गई। जबकि छह पुलिस कर्मी घायल हो गए।

एडीजी बरेली जोन राज कुमार ने जफर पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया था। इसके बाद से जफर की तलाश में पंद्रह टीमें लगाई गई थीं। आज शनिवार को मुरादाबाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ आ रहे हैं। जिसे देखते हुए जिले में सुरक्षा और कड़ी की थी। देर रात बरेली जोन के एडीजी राज कुमार ने मुरादाबाद पहुंचकर समीक्षा की और जफर की गिरफ्तारी को लेकर रणनीति तैयार की थी।

डीआईजी शलभ माथुर ने बताया कि जफर की तलाश में पुलिस टीमें लगी थी। आज शनिवार सुबह करीब पांच बजे जफर पाकबड़ा अगवानपुर बाईपास से होते हुए अमरोहा की ओर भाग रहा था। इसी दौरान पाकबड़ा सहित अन्य थानों की पुलिस ने उसे कैलसा रोड के पास पकड़ने की कोशिश की। उसने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी।

पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। एक गोली जफर के पैर में लगी। इसके बाद वह सड़क पर गिर गया। इसी दौरान दौड़भाग में सिपाही संदीप सड़क पर गिरकर घायल हो गया। घायल जफर और सिपाही संदीप को जिला अस्पताल भिजवा दिया। पुलिस अफसरों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और फोरेंसिक टीम ने मौके से नमूने लिए हैं।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

River Front Case: शिवपाल पर शिकंजे के लिए अब निकलेगा रिवर फ्रंट का जिन्न

अखिलेश यादव से शिवपाल के हाथ मिलाने पर योगी...

IPL: ड्वेन ब्रावो की CSK में नई भूमिका, बने गेंदबाज़ी कोच

वेस्टइंडीज के मशहूर ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो ने एक खिलाडी...

Eng vs Pak: पाक गेंदबाज़ों की बेरहमी से धुनाई, टेस्ट के पहले दिन पहली बार बना 500+ का स्कोर

पाकिस्तान की गेंदबाज़ी को दुनिया में बेहरीन श्रेणी में...