गजब! योगी की खाकी ने पुलिसचौकी में एक दूसरे पर चाकुओं से किया ताबड़तोड़ वार, खुली पोल मचा हड़कंप

 
meerut

 ​​मेरठ। प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनुशासित पुलिस की नैतिकता को मेरठ में तार—तार कर दिया गया। मेरठ के कंकरखेड़ा थाने की एक चौकी में तैनात पुलिसकर्मी आपस में ही भिड़ गए। पुलिस कर्मियों के बीच जमकर मारपीट हुई और दोनों पक्षों की ओर से चाकूबाजी भी हुई। जिसमें एक सिपाही गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल सिपाही को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की जानकारी एसओ कंकरखेड़ा को हुई तो पूरे मामले में लीपापोती कोशिश शुरू हो गई। लेकिन जब चौकी में खूनी संघर्ष का वीडियो रविवार की शाम सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो आला पुलिस अधिकारियों में हड़कंप मच गया। एसपी क्राइम अनित कुमार को पुलिस के बचाव में आकर बयान जारी करना पड़ा है। अब पुलिस अधिकारी पूरे मामले की जांच कर मारपीट करने वाले पुलिस​कर्मियों के प्रति कार्रवाई की बात कह रहे हैं।  

Read also: NIA Raid: आईएसआईएस की गतिविधियों से संबंधित मामले में छह राज्यों में संदिग्धों के 13 परिसरों की तलाशी

घटना मेरठ के थाना कंकरखेड़ा अंतगर्त आने वाली बाईपास की योगीपुरम की पुलिस चौकी का है। जहां पर सिपाही दीपक और सिपाही ओजस्वी तैनात हैं। चौकी में दोनों सिपाहियों ने अपने गुट बनाए हुए हैं। शनिवार की चौकी में ही शराब पी गइ और उसके बाद इन दोनों सिपाहियों के गुट में आपम में मारपीट शुरू हो गई। पहले तो दोनों ओर से हाथापाई होती रही। बताया जाता है कि इसी बीच सिपाही ओजस्वी ने चाकू निकालकर सिपाही दीपक पर हमला कर दिया। इसके बाद सिपाही दीपक ने भी चाकू से हमला बोल दिया। दोनों सिपाहियों ने एक—दूसरे पर चाकुओं से कई वार किए। जिसमें सिपाही दीपक को गंभीर चोंटे आईं हैं। उसको अस्पताल में भर्ती कराया गया है। चौकी के भीतर काफी देर तक खूनी संघर्ष होता रहा। इसकी जानकारी जब थाना प्रभारी को हुई तो उन्होंने पूरे मामले को दबाने की कोशिश की। चौकी के भीतर खूनी संघर्ष का मामला ​थाना पुलिस आज शाम तक दबाए रही। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। कंकरखेड़ा थाना पुलिस की अनुशासनहीनता सामने आने पर पुलिस आलाधिकारी भी चुप्पी साध गए हैं। अधिकारियों ने पूरे प्रकरण की जांच के निर्देश दिए हैं। कंकरखेड़ा थाना प्रभारी सुबोध कुमार सक्सेना से इस मामले की रिपोर्ट मांगी गई है। वहीं आईजी मेरठ रेंज प्रवीण कुमार ने कहा कि मामले की जांच के लिए एसएसपी मेरठ को आदेश दिए गए हैं।