Big News: इस शहर में जब खाकी के दामन पर दुष्कर्म और छेड़छाड़ के दाग, महिलाएं आखिर सुरक्षा की किससे करें आस

 
Meerut News

महिलाओं की सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाली खाकी के दामन पर भी दुष्कर्म और छेड़छाड़ के अलावा बदसलूकी के गहरे दाग हैं। जब खाकी के दामन पर ही दाग हैं तो मेरठ जैसे शहर में महिलाएं आखिर किससे सुरक्षा की आस कर सकती हैं। रिपोर्ट के मुताबिक मेरठ में करीब 15 पुलिसकर्मियों पर गंभीर किस्म के आरोप हैं। इनमें दुष्कर्म के अलावा छेड़छाड़ और बदसलूकी जैसे गंभीर आरोप हैं। इन सभी की जांच जारी है। सवाल ये है कि आखिर जिन पर महिलाओं की सुरक्षा का जिम्मा है उन्हीें के दामन दागदार हैं महिलाओं की सुरक्षा के मामले में प्रदेश की योगी सरकार बेहद गंभीरता दिखाती है। महिलाओं की सहायता के लिए और उनको सुरक्षा के लिए महिला हेल्प लाइन, आशा ज्योति केंद्र समेत कई योजनाएं चल रही हैं। इस सबके बावजूद भी महिला अपराध लगातार बढ़ रहा है। हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि जिन पर महिला सुरक्षा की जिम्मेदारी हे। उन्हीं पर छेड़छाड़, दुष्कर्म के अलावा दुर्व्यवहार और मारपीट जैसे गंभीर आरोप लग रहे हैं।

पुलिस रिकॉर्ड की माने तो मेरठ में चार महीने में 15 ऐसे मामले सामने आए हैं। जिनमें पुलिसकर्मियों पर दुष्कर्म,छेड़छाड़ और दुर्व्यवहार के मामले हैं। जिन 15 पुलिसकर्मियों पर ये मामले दर्ज किए गए हैं उनकी जांच चल रही है। इन 15 पुलिसकर्मियों के खिलाफ अधिकारियों से शिकायत की गई थी। इसके बावजूद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इसके अलावा थानों में अनुशासनहीनता की शिकायत भी अब लगातार बढ़ रही है। गत दिनों शहर के एक थाने में दरोगा ने थानेदार से लेकर एसएसपी तक को अपशब्द कहे थे। पुलिसकर्मियों के खिलाफ महिलाएं एडीजी,आईजी और एसएसपी सहित अन्य पुलिस अधिकारियों से उत्पीड़न की शिकायतें करती हैं। जिस पर जांच के आदेश दिए जाते हैं। 

Read also: Sex Racket: स्पा सेंटर में इस हालात दिखे युवक और युवती कि महिला पुलिस की शर्म से नीचे हो गई आंख

एक मामला थाना खरखौदा से जुड़ा हुआ है। जहां पर तैनात सिपाही सौरभ सिंह के खिलाफ अलीगढ़ निवासी छात्रा ने एक सप्ताह पूर्व एसएसपी को शिकायती पत्र दिया था। पीड़िता ने सिपाही पर दुष्कर्म, ब्लैकमेल सहित कई गंभीर आरोप सिपाही पर लगाए हैं। वहीं एक अन्य मामले में एक थाने में तैनात महिला कांस्टेबल ने महकमे के ही सिपाही रवि पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए शिकायती पत्र दिया है। हालांकि सिपाही का हाल में दूसरे जिले में तबादला हो गया है। वहीं देहली गेट थाने के हेड कांस्टेबल के खिलाफ महिला कांस्टेबल ने छेड़छाड़ की शिकायत की है। आरोप था कि हेड कांस्टेबल ड्यूटी चेकिंग के बहाने परेशान अश्लील हरकते करता है। यह मामला भी एसएसपी के पास पहुंचा है। महिला कांस्टेबल को थाने से हटा दिया गया। वहीं इस पूरे मामले में एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि जिन पुलिसकर्मियों के खिलाफ शिकायती पत्र मिलते हैं। उनके खिलाफ जांच बैठा दी जाती है। जो भी दोषी होता है। उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है। महिला अपराध के मामले में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।