Heavy Rain Meerut: बारिश से मेरठ में हुआ बड़ा बिजली फाल्ट, अंधेरे में रहे पॉश इलाके

 
Heavy Rain Meerut

मेरठ। मेरठ में बारिश से बिजली का बड़ा फाल्ट हुआ है। जागृति विहार उप केंद्र की विद्युत लाइन पर पेड़ गिरने से पूरा शास्त्री नगर और जागृति विहार के इलाकों की बिजली गुल हो गई। बरसात के कारण ना तो पेड़ हटाया जा सका और ना विद्युत तारों की मरम्मत की जा सके। जिसके कारण शास्त्री नगर , जागृति विहार समेत आसपास के कई इलाके रात भर अंधेरे में ही रहे। सुबह लोग नींद से उठे तो घरों में लगे इनवर्टर जवाब दे गए। जिसके चलते लोगों के मोबाइल डिस्चार्ज हो गए और बिजली नहीं  आने से पीने के पानी की समस्या खड़ी हो गई। नगरीय विद्युत वितरण खंडहर द्वितीय के अधिशासी अभियंता विपिन कुमार सिंह ने बताया कि विद्युत लाइन की मरम्मत कराई जा रही है। जल्द ही बिजली आपूर्ति सुचारू होगी। पेड़ गिरने से रात 12 बजे से बिजली आपूर्ति बंद हुई है। बरसात से मेंटीनेंस कार्य प्रभावित हुआ है। बता दे मेरठ और आसपास के जिले मानसूनी बारिश से सराबोर हो गए है। इस बार सितंबर माह के अंत में मानसून बारिश देखने को मिल रही है। पिछले एक सप्ताह से पूरे पश्‍चिमी उत्‍तर प्रदेश में बारिश हो रही है। गुरुवार की रात से शुरू बारिश का सिलसिला आज शुक्रवार की सुबह तक जारी है।

मेरठ में गुरुवार को अधिकतम तापमान 29.4 और न्यूनतम तापमान 23.1 डिग्री रहा।  बागपत में डीएम ने भारी वर्षा की संभावना के चलते सभी बोर्ड के स्कूलों में कक्षा 1 से 8 तक शुक्रवार को अवकाश घोषित कर दिया है। मेरठ  में लगातार छठे दिन आज शुक्रवार को बारिश जारी है। गुरुवार को शाम तक 14 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई। भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्थान मोदीपुरम के मौसम विज्ञानी डा. एन. सुभाष ने बताया कि सितंबर के तीसरे सप्ताह में 2016 के बाद बारिश हुई है। मेरठ में गुरुवार तक 95 मिमी वर्षा रिकॉर्ड की जा चुकी है।  आज शुक्रवार को सुबह से बारिश हो रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 25 सितंबर तक बारिश जारी रहने की संभावना है।मेरठ में मानसून विदाई की बेला में  मेहरबान हो रहा है। बता दें कि बुधवार सुबह से तेज धूप के बाद दोपहर 12 बजे के बाद मेरठ का  मौसम बदल गया। बुधवार को मौसम विभाग ने शाम साढे पांच बजे तक 7.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की। वहीं सुबह अधिकतम तापमान जहां 32.1 डिग्री तक पहुंच गया। दिन में रुक रुक कर बृह चलती रही। रात में बारिश आरंभ हो गई थी।सुबह से तेज वर्षा शुरू हो गई। इससे जगह जगह जलभराव हो गया। सुबह सवेरे आसमान में बादल छाए और बारिश हो रही है। हल्की हवा चल रही है। इससे मौसम भी काफी सुहाना हो गया है। गर्मी से निजात के साथ लगातार हो रही बारिश के कारण फसलों को नुकसान का अनुमान है। किसानों का कहना है कि निरंतर बारिश से धान, गोभी, लौकी आदि फसलों को नुकसान होगा। बारिश से धान का दाना काला पड़ सक़ता है। हालांकि गन्ना व हरे घास की फसल को बारिश से लाभ रहेगा।