Terrorism In India: एके 47 लेकर पाकिस्तानी युवक के साथ पोस्ट डालने वाले नजर की कुंडली खंगाल रही पुलिस

 
Terrorism In India:

मेरठ। एके 47 रायफल हाथ में और पाकिस्‍तानी युवक के साथ पोस्ट डालने वाले नजर की कुंडली मेरठ पुलिस खंगाल रही है। हालांकि पुलिस ने नजर मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ भी कर रही है। अभी तक सामने आया है कि नजर पाकिस्तानी साथी इब्राहिम के साथ दो साल अरब में रुम पार्टनर बनकर रहा था। लेकिन देश वापसी के बाद भी नजर पाकिस्तानी युवक इब्राहिम के संपर्क में बराबर बना हुआ था। इब्राहिम द्वारा फेसबुक पर डाली पोस्ट शेयर करने के मामले में नजर मोहम्मद के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है। बता दें कि इंटरनेट पर अपलोड फोटो की पूरीजांच की जा रही है। वहीं युवक से भी पूछताछ की जा रही है।  एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि यह देखा जा रहा है कि फोटो कहां का है। एसपी देहात ने बताया कि नजर ने पूछताछ में बताया कि वह 2015 में सऊदी अरब गया था। जहां पर 2019 में उसकी मुलाकात पाकिस्तान के पेशावर निवासी इब्राहिम से हुई। नजर मोहम्मद ने इब्राहिम के साथ रुम शेयर किया था।

हालांकि उसके साथ पंजाब के सिकंदर और फिरोज भी साथ ही रहते थे। इब्राहिम की ओर से एके-47 राइफल लिए फोटो फेसबुक पर अपलोड किया गया है। जिन्हें नजर ने शेयर किया है। पुलिस फोटो की जांच कर रही है कि वह कहां के है। नजर मोहम्मद के बाद इब्राहिम का रिकार्ड खंगाला जा रहा है। देखा जा रहा है कि नजर मोहम्मद के अलावा इब्राहिम भारत के अन्य युवकों से जुड़ा हुआ तो नहीं है। दो साल तक दोनों के रहने का रिकार्ड खंगाला जा रहा है। बता दें कि नजर मोहम्मद ने देवी देवताओं की आपत्ति जनक फोटो शेयर किए थे। जिसके बाद हिंदू संगठन के लोग थाने पहुंच गए थे। बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने थाने पहुंचकर हंगामा कर दिया। उसके बाद सभी को कार्रवाई का भरोसा देकर वापस लौटाया। वहीं नजर के पिता सीनू सैफी ने बताया कि नजर निर्दोष है। उसका पाकिस्तानी से कोई कनेक्शन नहीं। सऊदी अरब में बतौर रूम पार्टनर उसके साथ था। उसके बाद पाकिस्तानी से कोई संपर्क में नहीं रहा। नवंबर 2021 में सऊदी अरब से आने के बाद ट्यूबवेल लगाने के धंधे में काम करने लगा। परिवार की स्थित सही करने के लिए ही वह सऊदी अरब गया था। वहां से सात साल में रकम कमा कर लाया। जिससे परिवार की स्थिति में सुधार हुआ है।