UP News: मेरठ के काम्प्लेक्स को हिंदू संगठन का ठेकेदार बनाना चाहता था लखनऊ का लुलु मॉल

नमाज के विरोध में हनुमान चालीसा पाठ करने वाले सचिन सिरोही को संगठन ने दिखाया बाहर का रास्ता
 
 
UP News

मेरठ। लखनऊ के लुलु मॉल में नमाज अदा करने के विवाद के बाद मेरठ के गढ़ रोड स्थित एक कॉम्प्लेक्स में नमाज पढ़े जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसकी गूंज लखनऊ तक सुनाई पड़ी थी। जिसके बाद डीजीपी स्तर से इस पर रिपोर्ट मांगी गई थी। वहीं कॉम्प्लेक्स में नमाज अदा किए जाने के विरोध में हिंदू संगठन हिंदू जागरण मंच उतर आया था। हिंदू जागरण मंच के महानगर अध्यक्ष सचिन सिरोही अपनी राजनीति चमकाने के लिए अपने चंद समर्थकों के साथ काम्प्लेक्स में पहुंचा और उसने वहां पर हनुमान चालीसा का पाठ किया। इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने सचिन सिरोही को हिरासत में लेकर थाने भेज दिया ​था। मामला तूल पकड़ता देख हिंदू जागरण मंच ने कार्रवाई करते हुए अपने इस पदाधिकारी सचिन सिरोही को संगठन से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। बता दें कि हिंदू जागरण मंच का महानगर अध्यक्ष सचिन सिरोही हमेशा से विवादों में रहा है। मेरठ में रोटी पर थूकने का विवाद हो या फिर महिला के शव को घर में दफनाने को लेकर बवाल करने का मामला। कंकरखेड़ा थाने में धरना देने के मामले में भी सचिन सिरोही काफी चर्चित रहा था। बताया जाता है कि हिंदू जागरण मंच के शीर्ष स्तर के पदाधिकारियों ने सचिन सिरोही को काफी समझाने की कोशिश की लेकिन इसके बाद भी सचिन सिरोही अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था। मेरठ के कॉम्प्लेक्स में नमाज पढ़े जाने के विरोध में भी सचिन सिरोही बिना अपने शीर्ष स्तर से अनुमति लिए हनुमान चालीसा का पाठ करने पहुंच गया।

Read also: स्वामी प्रसाद मौर्य ने बन्दर से की सुभासपा प्रमुख की तुलना

बता दें कि काम्प्लेक्स में नमाज पढ़े जाने मामले की जांच में सामने आया कि कुछ दिन पूर्व एक दुकान में फर्नीचर बनाने का काम चल रहा था। जिसमें कुछ बढ़ई मुस्लिम थे। उन्हीं के द्वारा ही कॉम्प्लेक्स में नमाज अदा की गई थी। इसका विरोध ना तो कॉम्प्लेक्स के व्यापारियों ने किया और कॉम्प्लेक्स के मालिकों ने। इसकी रिपोर्ट भी डीजीपी को मेरठ पुलिस द्वारा भेजी जा चुकी है। हिंदू जागरण मंच के महानगर अध्यक्ष सचिन सिरोही द्वारा हनुमान चालीसा पढ़े जाने के बाद संगठन की किरकिरी हुई है। हिंदू जागरण मंच ने महानगर अध्यक्ष सचिन सिरोही से पल्ला झाड लिया है। बता दें कि मेरठ में नवाज पढ़ने को शुरू हुए बवाल के पीछे भी सचिन सिरोही का ही दिमाग बताया जा रहा है। जिसने लखनऊ के लुलु मॉल जैसा ही तूल मेरठ में देने की पूरी कोशिश की। लेकिन इसके मामले की सत्यता सामने आने के बाद हिंदू जागरण मंच के अध्यक्ष सचिन सिरोही की पूरी योजना धरी रह गई। अब महानगर अध्यक्ष सचिन सिरोही को व्यक्तिगत कारणों के चलते दायित्वों से मुक्त किया है। यह जानकारी हिंदू जागरण मंच के ऑफिशियली पेज पर भी डाल दी गई है।