Fake Notes: तीस हजार रुपये देने के बदले मिलते थे एक लाख के नकली नोट,ऐसे हुआ खुलासा

 
Fake Notes

मेरठ। मेरठ में एक बार फिर से नकली नोट बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। एसओजी ने लिसाड़ीगेट और गंगानगर थाना पुलिस के साथ मिलकर एक गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गिरोह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक गिरोह के सदस्य तीस हजार के बदले एक लाख रुपये के नकली नोट देते थे।  बताया गया कि नकली नोट के इस काले धंधे में एक होमगार्ड की अहम भूमिका थी। उसके भाई कृष्ण शर्मा सहित नाजिम,मोहसिन,महताब और अरशद को एसओजी और पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 15 हजार के असली और करीब 53 लाख रुपये के नकली नोट बरामद किए। 

Read also: Om Prakash Rajbhar: सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को मिली वाईश्रेणी सुरक्षा तो सियासी गलियारों में मची हलचल

पुलिस के मुताबिक ये नकली नोटों का धंधा करने वाले लोगों को नए नोटों का झांसा देकर ठगी भी करते थे। आरोपियों के ठगी के तरीके को देख पुलिस भी हैरान हो गई है। पकड़े गए सभी आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है। वहीं गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में पुलिस जुट गई है।