Cracker Factory Explosion: अवैध पटाखा फैक्ट्री में जान हथेली पर लेकर काम करते थे बच्चे, छापेमारी में लाखों का विस्फोटक बरामद

 
Meerut Cracker Factory Explosion

मेरठ। जिले के मवाना तहसील के सठला गांव में आज छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में  विस्फोटक अवैध पटाखे का जखीरा बरामद हुआ है।  बरामद अवैध पटाखों की कीमत लाखों में बताई जा रही है। गाँव में बने अवैध पटाखा गोदामों पर एसडीएम मवाना अखिलेश यादव ने छापेमारी की है।  अब तक चार गोदामों पर छापेमारी की कार्रवाई की जा चुकी है। चार गोदामों से लगभग तीन छोटे ट्रक में  सामान भरकर थाने भेजा जा चुका है। बताया जाता है कि  अवैध पटाखा गोदामों  में क्षेत्र के छोटे बच्चे काम करते हैं। जो कि छापेमारी के दौरान काम करते पाए गए।

Read also: Haridwar News: दवा कंपनियों पर एसटीएफ और नारकोटिक्स विभाग का छापा,करोड़ों रुपये के रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद

अवैध पटाखा गोदामों के मालिक अफसर अली और अनीस नाम के दो व्यक्ति हैं। जो कि क्षेत्र में पटाखों का अवैध कारोबार बड़े पैमाने पर करते हैं। अवैध पटाखा कारोबारी अलग-अलग इलाकों में गोदाम किराए पर लेते हैं। गोदामों में पटाखे बनाने और रखने का काम अवैध तरीके से संचालित करते थे। अवैध पटाखा गोदामों के आसपास के लोगों को चुप करने के लिए उन्हें अपने यहां काम पर रखकर  नौकरी देते हैं। बताया जाता है कि अवैध पटाखा फैक्ट्री से पटाखों को दूसरे राज्यों जैसे दिल्ली, हरियाणा, पंजाब,उत्तराखंड में सप्लाई किया जाता है। प्रशासन को किसी ने इस पूरे अवैध कारोबार की सूचना दी थी। इस पर एसडीएम मवाना गंभीर हुए और उन्होंने खुद छापेमारी की कमान संभाली हैं।