AUS vs ZIM: ऑस्ट्रेलिया को उसी के मैदान पर पटखनी दे ज़िम्बाब्वे ने रचा इतिहास

 
AUS vs ZIM

क्रिकेट में कब क्या हो जाए कुछ नहीं कहा जा सकता, आज के दिन ज़िम्बाब्वे क्रिकेट की ऐसी हालत है उसके साथ जल्दी कोई क्रिकेट नहीं खेलना चाहता। ICC को भी काफी मशक्कत करनी पड़ती है ज़िम्बाब्वे के खिलाफ मैच खेलने के लिए बड़ी टीमों को मनाने में. उसी ज़िम्बाब्वे ने 3 सितम्बर को कमाल कर दिया। उसने ऑस्ट्रेलिया जैसी ताकतवर टीम को उसी के मैदान पर पहली बार हराने का ऐतिहासिक कारनामा कर दिखाया। ज़िम्बाब्वे के इस कारनामे से क्रिकेट जगत हैरान है कि उसने ऐसा कैसे किया वह ऑस्ट्रेलिया में. बता दें कि ऑस्ट्रेलिया की टीम पांच बार की विश्व चैम्पियन है और उसी विश्व चैम्पियन को तीन एकदिवसीय श्रंखला के अंतिम मैच में उसने तीन विकेट से पटकनी दी. 

Townsville में खेले गए एकदिवसीय श्रंखला सीरीज के तीसरे और अंतिम मैच में ज़िम्बाब्वे ने ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से हराकर सभी को हैरान कर दिया , मैच में टॉस जीतकर जिम्बाब्वे ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया और ऑस्ट्रेलिया की टीम को 31 ओवर में ही 141 रनों पर ढेर कर दिया. बाद में लक्ष्य का पीछा करते हुए ज़िम्बाब्वे ने 39 ओवर में ही 7 विकेट के नुकसान पर 142 रन बनाकर 3 विकेट ऐतिहासिक कामयाबी हासिल कर ली.

मैच के हीरो ज़िम्बाब्वे लेग स्पिनर रयान बर्ल रहे जिन्होंने सिर्फ 3 ओवर में 10 रन देकर ऑस्ट्रेलिया के 5 विकेट झटक लिए. इसमें डेविड वॉर्नर का भी विकेट शामिल था जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया की ओर से अकेले ही मोर्चा संभाला और 95 रन बनाकर आउट हुए, रेयान ने ग्लेन मैक्सवेल को भी आउट किया जो दही=दहाई में पहुँचने वाले दूसरे बल्लेबाज़ थे, इसके अलावा निचले क्रम में उन्होंने एश्टन एगर, मिचेल स्टार्क और जोस हेजलवुड को अपना शिकार बनाया. जवाब में जिंबाब्वे के बल्लेबाज़ों ने थोड़ा थोड़ा सहयोग करते हुए जीतके लक्ष्य 7 विकेट गंवाकर पूरा कर लिया. जिंबाब्वे की तरफ़ से रेगिस चकाबवा ने सबसे 37 रनों की सबसे बड़ी पारी खेली. उनके अलावा Tadiwanashe Marumani  ने 35, Takudzwanashe Kaitano ने 19 और Tony Munyonga ने 17 का सहयोग दिया। ऑस्ट्रेलिया को यह हार बरसों तक सालती रहेगी।