Virat Kohli: शतक जड़ कोहली ने बताया वो विराट थे, हैं और रहेंगे

61 गेंदों में 122 रन, 12 चौके और 6 छक्के, 200 का स्ट्राइक रेट. शतक की डगर पर इससे अच्छी वापसी क्या हो सकती है
 
Virat Kohli
तौक़ीर सिद्दीक़ी

कोहली ने आज दिखा दिया कि क्यों हैं वो इतने विराट। 1021 दिन, विराट जैसा बल्लेबाज़ शतक से दूर रहे, हैरानी होती है. पिछले तीन साल से विराट के चाहने वालों को इस पल का इंतज़ार था और आखिरकार आज वो पल आ ही गया, शतकों का सूखा ख़त्म हुआ और ऐसे स्टाइल में ख़त्म हुआ कि जिसकी कल्पना भी शायद किसी ने न की होगी। 61 गेंदों में 122 रन, 12 चौके और 6 छक्के, 200 का स्ट्राइक रेट. शतक की डगर पर इससे अच्छी वापसी क्या हो सकती है, स्वप्नीली है यह वापसी और भारतीय क्रिकेट के लिए एक शुभ संकेत भीकि उसका पुराना विराट अब वापस आ चूका है, नए कलेवर के साथ. 

किस स्टाइल में विराट ने अपने शतकों का सूखा ख़त्म किया, बता दें कि टी-20 इंटरनेशनल में यह विराट का पहला सैकड़ा है, इससे पहले 70 शतक विराट ने टेस्ट और एकदिवसीय क्रिकेट में लगाए हैं. टेस्ट में 27 और एकदिवसीय में 43 शतक. एशिया कप में अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ भले ही आज के मैच की कोई अहमियत न हो मगर इस शतक को आप कमतर नहीं आंक सकते। अफ़ग़ानिस्तान की उसी गेंदबाज़ी के खिलाफ कोहली ने विराट शतक जड़ा जिसके खिलाफ पाकिस्तानी बल्लेबाज़ों को 130 रन बनाने में पसीने छूट गए थे, आज कोहली ने अकेले ही 122 रन ठोंक दिए. कोहली के बल्ले से आखरी शतक नवंबर 2019 में आया था इसके बाद तो जैसे उनके बल्ले को किसी ने ताला लगा दिया था. 

Read also: PAK Vs AFG: हार से भड़क उठे अफ़गानी, स्टेडियम में की तोड़फोड़, पाकिस्तानी फैंस को बनाया निशाना

महीने दर महीने, साल दर साल, सीरीज़ दर सीरीज़ निकलती रहीं मगर कोहली शतक को तरसते रहे. जिस कोहली के बल्ले से शतकों की बरसात होती थी वहां सूखा पड़ चूका था. आखिर एशिया कप में वो दिन आ ही गया. दरअसल बुरी फॉर्म से जूझ रहे विराट कोहली के लिए एशिया कप एक परीक्षा की तरह था , यहाँ पर उनके बल्ले से रन निकलना ज़रूरी हो गया था वरना उनके कैरियर पर विराम भी लग सकता था. एशिया कप की शुरुआत कुछ लड़खड़ाहट से ज़रूर शुरू हुई मगर कुछ अच्छे संकेत भी मिलने लगे, और फिर बाद के मैचों में विराट ने फॉर्म वापसी की झलक दिखाई और आज शतक जड़कर उसपर मुहर भी लगा दी.