आईपीएल नहीं अब विदेशी लीग खेलेंगे Suresh Raina

 
Suresh Raina

भारत के बाएं हाथ विस्फोटक बल्लेबार रहे सुरेश रैना ने मंगलवार को खेल के सभी फॉर्मेट से अपने रिटायरमेंट का एलान कर दिया। जिसका मतलब यह हुआ कि अब वो आईपीएल में भी नहीं खेलेंगे, क्योंकि अंतर्राष्ट्री क्रिकेट से तो पहले ही दूर थे, महेंद्र सिंह धोनी के सबसे नज़दीकी माने जाने वाले 35 वर्षीय सुरेश रैना ने ट्वीट पोस्ट से अपने सन्यास की आधिकारिक घोषणा की।

रैना ने अपने ट्वीट में लिखा कि देश और प्रदेश का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात है। मैं क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट की घोषणा करना चाहता हूं। रैना ने BCCI, UPCA, CSK और राजीव शुक्ल के साथ अपने सभी फैंस को उनके समर्थन और अटूट विश्वास के लिए धन्यवाद अदा किया। बता दें की रैना को इस साल की शुरुआत में आईपीएल की मेगा नीलामी में किसी भी फ्रेंचाइज़ी ने नहीं खरीदा, CSK ने भी नहीं. उसने अपने इस स्टार बल्लेबाज़ के लिए बोली तक लगाना मुनासिब नहीं समझा जिसने CSK को कई बार चैंपियन बनाने  में धोनी के साथ महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। बता दें कि रैना 2011 विश्व कप और 2013 की चैंपियंस ट्रॉफी जीतने वाली टीम के सदस्य रह चुके हैं. 

Read also: Asia Cup 2022: भारत नहीं तो पाकिस्तान जीतेगा एशिया कप, सहवाग की भविष्यवाणी फैंस निराश

सुरेश रैना ने 2020 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया था. रैना ने टीम इंडिया के लिए 226 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले. 5615 रन बनाए जिसमें पांच शतक शामिल रहे. वहीं 78 टी20 अंतररष्ट्रीय मुकाबलों में 1605 रन बनाये हैं. टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो रैना ने 18 टेस्ट मैचों में  768 रन बनाए हैं जिसमें एक शतक शामिल है. दरअसल रैना अब विदेशी लीग में अपने हाथ आज़माना चाहते हैं और इसके लिए उन्हें संन्यास लेना बहुत ज़रूरी हो गया था क्योंकि भारत या घरेलू स्तर पर सक्रिय खिलाड़ी विदेशी लीग में भाग नहीं ले सकता है. इस सन्यास के बाद उम्मीद है कि रैना को एकबार फिर लोग एक्शन में देखेंगे मगर विदेशी धरती पर.