Roger Federer Retirement: महान फेडरर ने टेनिस को कहा अलविदा

 
Roger Federer Retirement

टेनिस जगत के महान खिलाड़ियों में से एक रॉजर फेडरर ने टेनिस की दुनिया से संन्यास ले लिया है, उनके नाम 20 ग्रैंड स्लैम जीतने का अद्भुत रिकॉर्ड है।  गुरुवार को ट्विटर हैंडल पर फेडरर ने अपने रिटायरमेंट का ऐलान किया. 21 साल की उम्र में प्रतिष्ठित विंबलडन खिताब जीतने वाले फेडरर ने सबसे ज़्यादा आठ बार विंबलडन टाइटल अपने नाम किया। उन्होंने अपने करियर में 103 एटीपी सिंगल्स टाइटल्स जीतने में कामयाबी हासिल की. यहीं नहीं, फेडरर 310 हफ्तों तक एटीपी रैंकिंग नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी भी रहे. 

फेडरर ने अपने पूरे करियर कीर्तिमानों की झड़ी लगा दी है, 41 साल के रोजर फेडरर से ज़्यादा सिंगल खिताब (22) राफेल नडाल के नाम हैं. फेडरर ने अपने ट्वीट में लिखा कि उन्हें लगता है कि अब कोर्ट छोड़ने का समय आ गया है. फेडरर ने आगे लिखा कि उन्होंने 24 वर्षों में 1500 से ज़्यादा मैच खेले है लेकिन हमें कभी तो प्रतिस्पर्धी करियर का अंत करना ही है. फेडरर ने 8 विंबलडन टाइटल के अलावा 6 बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन, एकबार फ्रेंच ओपन और पांच बार यूएस ओपन जीतने में कामयाबी हासिल की है. 

बता दें कि फेडरर वैसे तो स्विट्जरलैंड के नागरिक हैं लेकिन उनके पास साउथ अफ्रीका की भी नागरिकता है. रॉजर फेडरर की नेटवर्थ कमाई 4372 करोड़ रुपये है, इसके साथ ही उन्होंने 130 मिलियन डॉलर प्राइज मनी से कमाए हैं. फेडरर को सिर्फ टेनिस के बहुत से शॉट मारने हिन् आते बल्कि उन्हें 9 भाषाओँ का ज्ञान भी है जो उन्होंने विभिन्न देशों के दौरों पर सीखी है. रोजर फेडरर को ट्रेनिंग मैच जीतने में कोई दिलचस्पी नहीं थी इसलिए वो ऐसे मैच हारना ही पसंद करते थे. फेडरर के रिटायरमेंट से टेनिस की दुनिया से एक शानदार खिलाडी दूर हो गया, टेनिस के फैंस को बहुत दिनों तक उनकी मैदान पर मौजूदगी की कमी खलेगी।