Thursday, October 21, 2021
Homeस्पोर्ट्समुंबई ने चौथी बार जीती विजय हजारे ट्रॉफी

मुंबई ने चौथी बार जीती विजय हजारे ट्रॉफी

मुंबई: मुंबई ने विजय हजारे ट्रॉफी फाइनल का 6 विकेट से मैच जीत लिया। यूपी को हराकर मुंबई ने चौथी बार खिताब पर कब्जा किया। मुंबई के कप्तान पृथ्वी शॉ ने 39 गेंद में 73 रन की पारी खेली जिसमें 10 चौके और 4 छक्के शामिल है। मुंबई के आदित्य तारे ने शतकीय पारी खेली, इसके अलावा यशस्वी जायसवाल और शिवम दुबे ने भी फाइनल में जलवा दिखाया।

इससे पहले सलामी बल्लेबाज माधव कौशिक के नाबाद 158 रन की मदद से उत्तर प्रदेश ने विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में रविवार को यहां मुंबई के खिलाफ चार विकेट पर 312 रन बनाए। कौशिक ने 156 गेंद की अपनी पारी में 15 चौके और चार छक्के मारे। उन्होंने समर्थ सिंह (55) के साथ पहले विकेट के लिए 122 रन जोड़कर उत्तर प्रदेश को शानदार शुरुआत दिलाई। समर्थ ने 73 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और तीन छक्के मारे।

उत्तर प्रदेश ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए शुरुआत में सतर्क रवैया अपनाया। समर्थ ने पांचवें ओवर में टीम की ओर से पहली बाउंड्री लगाई। धीमी शुरुआत के बाद कौशिक ने अच्छी लय में बल्लेबाजी की। उन्होंने आठवें ओवर में दो चौके और एक छक्के की बदौलत 14 रन बटोरे। कौशिक ने 75 जबकि समर्थ ने 71 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

इस बीच मुंबई के कप्तान पृथ्वी शॉ को 24वें ओवर में पहली स्लिप में क्षेत्ररक्षण करते हुए बायें पैर में गेंद लगने के कारण मैदान से बाहर जाना पड़ा लेकिन उपचार के बाद वह क्षेत्ररक्षण के लिए लौटे। स्पिनरों ने इसके बाद जल्दी जल्दी दो विकेट चटकाकर मुंबई को वापसी दिलाई। लेग स्पिनर प्रशांत सोलंकी (71 रन पर एक विकेट) ने समर्थ को पगबाधा किया।

आफ स्पिनर तनुश कोटियान (54 रन पर दो विकेट) ने करण शर्मा (00) को विकेटकीपर आदित्य तारे के हाथों कैच कराकर उत्तर प्रदेश का स्कोर दो विकेट पर 123 रन किया। प्रियम गर्ग ने 21 रन बनाने के बाद कोटियान की गेंद पर मिड आफ पर शिवम दुबे को कैच थमाया। कौशिक ने हालांकि एक छोर संभाले रखा। उन्हें अक्षदीप नाथ (55 रन, चार चौके, तीन छक्के) के रूप में उम्दा जोड़ीदार मिला।

दोनों ने चौथे विकेट के लिए 128 रन की साझेदारी की। कौशिक ने सोलंकी पर छक्के के साथ 125 गेंद में लिस्ट ए करियर का अपना पहला शतक पूरा किया। उन्होंने इसके बाद 154 गेंद में 150 रन पूरे किए। कौशिक और अक्षदीप की पारियों की बदौलत टीम अंतिम 10 ओवर में 111 रन जोड़कर 300 रन के आंकड़े को पार करने में सफल रही।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

लेटेस्ट न्यूज़

ट्रेंडिंग न्यूज़