depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

श्याम स्टील इंडिया ने जरूरतमंदों को दीं ई-रिक्शा

प्रेस रिलीज़श्याम स्टील इंडिया ने जरूरतमंदों को दीं ई-रिक्शा

Date:


श्याम स्टील इंडिया ने जरूरतमंदों को दीं ई-रिक्शा

  • श्याम स्टील इंडिया के बिल्ड इंडिया एंबेसडर सोनू सूद ने ई-रिक्शा सौंपे
  • पंजाब में कई लोगों के जीवन में आयीं रोजगार की नयीं आशाएं

लुधियाना, 11 फरवरी 2021: श्याम स्टील इंडिया, भारत के प्रमुख प्राथमिक स्टील उत्पादकों में से एक ने पंजाब के कई जरूरतमंद परिवारों को ई-रिक्शा की डिलीवरी के साथ नई आशाएं प्रदान करना शुरू कर दिया है। कंपनी ने वैश्विक महामारी के मद्देनजर प्रशासन द्वारा किए गए लॉकडाउन उपायों के कारण कई प्रभावितों की आजीविका को धीरे-धीरे आगे बढ़ाने का संकल्प लिया है। श्याम स्टील इंडिया के ई-रिक्शा के साथ नई आजीविका की नई उम्मीदें प्रदान करने के लिए मोगा, पंजाब के पांच सुविधाओं से वंचित परिवारों के श्री अमर सिंह, तरसेम सिंह, नंदू राधेश्याम, राम सुंदर और गुरमुख सिंह को ई-रिक्शा सौंपे हैं। 

कंपनी ने यूएनडीपी स्पेशल ह्यूमेनटेरियन एक्शन अवॉर्ड विजेता के साथ, सोनू सूद ने पिछले साल दिसंबर के दौरान कंपनी की पहली पहल -‘खुद कमाओ घर चलाओ’, की शुरूआत की थ्ी, जिसके तहत भारत के विभिन्न हिस्सों में ई-रिक्शा वितरण अभियान चलाया जा रहा है। इस उस लोगों को ई-रिक्शा प्रदान किए जा रहे हैं जो कि देशव्यापी लॉकडाउन के कारण अपनी आजीविका खो चुके हैं। कंपनी ने 360 डिग्री के साथ एक व्यापक अभियान की योजना बनाई है ताकि अपनी तरह के इस पहले प्रयास को लेकर हर तरह का समर्थन दिया जाए और इसमें सही जरूरत वाले लोग आएं। मदद के लिए आने वाले हर आवेदन का मूल्यांकन किया गया था और ई-रिक्शा आवेदकों के सामाजिक-आर्थिक मापदंडों के आधार पर वितरित किए जा रहे हैं।

स्वर्गीय श्रीराम बेरीवाला और श्री श्याम सुंदर बेरीवाला ने अपनी पहली पहल के बारे में बात करते हुए कहा कि ‘‘हम अपने दैनिक कारोबार में भारत के नागरिक और इंफ्रास्ट्रक्चरल भविष्य का निर्माण करते हैं, लेकिन जब तक हम मानव विकास की दिशा में विकास और योगदान नहीं करते हैं, तब तक हमारा भविष्य उज्ज्वल नहीं हो सकता है। हमारे समाज के निचले तबके के लोग महामारी और लॉकडाउन के बाद आर्थिक कठिनाई के कारण प्रभावित हुए। हम एक जिम्मेदार भारतीय कंपनी के रूप में, कुछ लोगों के साथ खड़े होने के समय के आहवान को नजरअंदाज नहीं कर सकते थे। इसलिए हमने उनकी मदद करने का फैसला किया है ताकि उनकी आजीविका और उनके भविष्य के पुनर्निर्माण में मदद मिल सके। श्री श्रीराम बेरीवाला और स्वर्गीय श्याम सुंदर बेरीवाला, संस्थान के संस्थापक निदेशक मानवता की सेवा करने में विश्वास करते हैं। उनके मार्गदर्शन में कंपनी द्वारा कई पहल की गईं। यह पहल उनके प्रयासों को आगे बढ़ाने वाला सिलसिला है।

इसके बारे में बात करते हुए, सोनू का कहना है कि ‘‘मुझे पिछले कुछ महीनों में लोगों से बहुत प्यार मिला है। और इसने मुझे उनके लिए वहां बने रहने के लिए प्रेरित किया है। इसलिए, मैंने श्याम स्टील इंडिया के साथ मिलकर ‘खुद कमाओ घर चलाओ’ पहल शुरू की है। मेरा मानना है कि जरूरत के सामान की आपूर्ति प्रदान करने की तुलना में रोजगार के अवसर प्रदान करना अधिक महत्वपूर्ण है। मुझे यकीन है कि यह पहल उन्हें आत्मनिर्भर और आत्मनिर्भर बनाकर फिर से अपने पैरों पर खड़े होने में मदद करेगी।’’

श्याम स्टील इंडिया का यूपी, बिहार, झारखंड, ओडिशा और उत्तर-पूर्व के सभी 7 राज्यों सहित सभी प्रमुख भारतीय राज्यों में रिटेल बिजनेस नेटवर्क है। इस पहल के साथ, कंपनी निश्चित रूप से अन्य राज्यों के लोगों का भी दिल जीतने में सफल रहेगी।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

बजट 2024: युवाओं के लिए Paid Internship Scheme की घोषणा

निर्मला सीतारमण ने लगातार सातवां बजट पेश कर रही...

बजट में रक्षा मंत्रालय को मिला सबसे ज़्यादा पैसा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा मंगलवार को संसद में...

निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण पढ़ना शुरू किया, युवाओं के लिए पांच योजनाएं

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल...