depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

खूब उड़ा रियल एस्टेट सेक्टर, अब आने वाली है मंदी

फीचर्डखूब उड़ा रियल एस्टेट सेक्टर, अब आने वाली है मंदी

Date:

बीते तीन सालों में प्रॉपर्टी की कीमत जिस तरह बढ़ी है, उसने सभी अनुमानों को पीछे छोड़ दिया है। 2 साल पहले तक जिस 2BHK फ्लैट की कीमत 30 से 35 लाख रुपये थी, वह अब बढ़कर 65 से 70 लाख पहुंच गई है। सबसे बड़ी बात कि अगर कोई एंड यूजर अपने लिए फ्लैट खरीदना चाह रहा है तो उसे ढंग की प्रॉपर्टी नहीं मिल पा रही है। लेकिन मामला अब बदलने वाला है, जानकारों के मुताबिक अब रियल एस्टेट के अच्छे दिन जाने वाले हैं। इसके इशारे भी मिलने शुरू हो गए हैं कि रियल एस्टेट सेक्टर में सुस्ती आने वाली है।

रियल एस्टेट क्षेत्र से जुड़े आंकड़ों का विश्लेषण करने वाली एक फर्म के अनुसार, देश के नौ प्रमुख शहरों में मौजूदा तिमाही के दौरान घरों की बिक्री दो प्रतिशत घटकर लगभग 1.20 लाख इकाई रह जाने का अनुमान है। अप्रैल-जून तिमाही में घरों की बिक्री जनवरी-मार्च तिमाही की तुलना में 18 प्रतिशत घटने का अनुमान है। पिछली तिमाही में 1,46,1947 घरों की बिक्री हुई थी। इससे अंदाजा लगाया जा सकता कि रियल्टी मार्केट किस ओर जा रहा है। प्रॉपर्टी सेक्टर के जानकारों का कहना है कि बिक्री गिरने से बिल्डर पर दबाव बढ़ेगा। मौजूदा समय में कोई भी बिल्डर इस हालत में नहीं कि वो अनसोल्ड इनवेंट्री रख कर टिके रहे, इसलिए अगर उसे बाजार में रहना है तो कीमत कम करनी होगी।

आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल-जून तिमाही में घरों की बिक्री हल्की गिरावट के साथ 1,19,901 इकाई रहने का अनुमान है। एक साल पहले की समान अवधि में 1,21,856 घरों की बिक्री हुई थी। मुंबई में घरों की बिक्री 13,219 इकाइयों की तुलना में मामूली रूप से घटकर 13,032 इकाइयों पर आ जाने का अनुमान है। हालांकि दिल्ली-एनसीआर में इस साल अप्रैल-जून के दौरान आवासीय संपत्तियों की बिक्री बढ़ने का अनुमान है। बेंगलुरु में भी घरों की बिक्री एक साल पहले की 15,088 इकाइयों से बढ़कर 15,127 इकाइयों पर पहुंचने का अनुमान है। लेकिन चेन्नई में बिक्री 4,950 इकाइयों से घटकर 4,841 इकाइयों पर आ जाने और हैदराबाद में बिक्री 20 प्रतिशत घटने का अनुमान है।

जानकारों के मुताबिक रियल एस्टेट मार्केट में झूठा हाइप क्रिएट किया गया, उसका परिणाम अब दिखाई दे रहा है। बिल्डर और ब्रोकर के तमाम हथकंडे अब फेल होते नजर आ रहे हैं। प्रॉपर्टी की कीमत आम आदमी के बजट के बाहर निकल गयी है। ऐसे में इस सेक्टर में सुस्ती देखने को मिलेगी।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

ईपीएफओ खाताधारकों के लिए केंद्र का बड़ा एलान, ब्याज दर बढ़ाने को दी मंजूरी

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को ईपीएफओ खाताधारकों के...

यूपी भाजपा में मची कलह पर अखिलेश का कटाक्ष

यूपी बीजेपी में अंदरखाने मचे घमासान को लेकर समाजवादी...

कांग्रेस के एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद, बीकेटीसी का आरोप

बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) ने बुधवार को आरोप...

ट्रम्प पर हुए जानलेवा हमले से पीएम मोदी चिंतित, बोले-राजनीति में हिंसा की कोई जगह नहीं

पेंसिलवेनिया के बटलर में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप...