निकाय चुनाव 2022: सपा व रालोद गठबंधन मिलकर लडेंगे निकाय चुुनाव, भाजपा के लिए चुनौती

 
UP Civic Election 2022:

2022 के विधानसभा चुनाव में सपा-रालोद गठबंधन ने पश्चिमी उप्र में भाजपा को कई सीटों पर तगड़ा झटका दिया था। जिससे भाजपा की सीटें तो कम ही हुई साथ ही जाट-मुस्लिम मतदाता भी एक पाले में लाने में गठबंधन सफल रहा। अब 2022 के विधानसभा चुनाव में मिली सफलता से उत्साहित सपा व रालोद गठबंधन निकाय चुनाव में भाजपा के लिए परेशानी खड़ी करने की तैयारी में जुट गया है। नगर निकाय चुनाव को सपा व रालोद गठबंधन मिलकर लडे़गे। हालांकि रालोद की ओर से इसको कुछ असमंजस की स्थिति पैदा हो रही थी। लेकिन अब वह दूर कर ली गई है। रालोद के प्रदेश मीडिया संयोजक और पार्टी की ओर से नगर निकाय चुनाव के लिए गठित पर्यवेक्षक टीम के सदस्य सुनील रोहटा ने बताया कि यह पूरी तरह से स्पष्ट है कि नगर निकाय चुनाव सपा और रालोद मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष ने हाल में ही बयान दिया था। जिसको लेकर दोनों पार्टियों के बीच कुछ भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो गई थी।

Read also: UP Bureaucracy: आईएएस अवनीश अवस्थी की विदाई के साथ शासन में हुए बदलाव से लखनऊ से दिल्ली तक हलचल

अब वह रालोद की ओर से स्पष्ट कर रहे हैं कि दोनों पार्टियां साथ हैं और गठबंधन के साथ ही नगर निकाय चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि रालोद की पंद्रह सदस्यीय पर्यवेक्षक टीम प्रत्याशी चयन और अन्य चुनावी रणनीति को लेकर रिपोर्ट तैयार तैयार कर रही है। जिसको पार्टी प्रमुख जयंत चैधरी के पास भेजा जाएगा। लेकिन समय आने पर दोनों दलों के बीच बनी साझी रणनीति के तहत ही प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी। इस संबंध में प्रदेश अध्यक्ष रामाशीष राय ने बताया कि उनके बयान को ठीक से नहीं समझा गया। उनके कहने का आशय था कि दोनों दल चुनाव की तैयारी अभी अलग-अलग कर रहे हैं लेकिन समय आने पर चुनाव मिलकर लड़ेंगे। दोनों दलों का गठबंधन है। उन्होंने कहा कि यह गठबंधन 2024 के आम चुनाव में भी जारी रहेगा।