UP Politics News: सपा और सुभासपा गठबंधन नाजुक मोड़ पर,राजभर आज करेंगे बड़ा ऐलान!

 
UP Politics News

लखनऊ। एमएलसी चुनाव के बाद से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से नाराज सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर आज शुक्रवार को सपा से अपने गठबंधन खत्म  करने की घोषणा कर सकते हैं। हालांकि उनका कहना है कि वह राष्ट्रपति चुनाव में सुभासपा के रुख को लेकर अपना पक्ष रखेंगे। राजनैतिक जानकारों की मानें तो उनका कहना है राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बैठक में सपा अध्यक्ष द्वारा ओम प्रकाश राजभर को नहीं बुलाए जाने से नाराज राजभर अब गठबंधन को लेकर बड़ी घोषणा करने की तैयारी बना चुके हैं। 

राजभर ने आज शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस बुलाई है। इसे लेकर अटकलों का दौर शुरू हो चुका है। दरअसल,राजभर और अखिलेश के बीच इस समय तनातनी विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद से शुरू हो गई थी।  चुनाव नतीजों बाद से ओमप्रकाश राजभर सार्वजनिक रूप से सपा अध्यक्ष पर निशाना साधने लग गए थे यहां तक कह दिया था कि एसी कमरे में बैठकर चुनाव की तैयारी नहीं होती और न चुनाव जीता जाता है। दोनों नेताओं के बीच अधिक तल्खी विधान परिषद के चुनाव को लेकर बढ़ गई थी। ओमप्रकाश राजभर अपने बेटे अरविंद राजभर को विधान परिषद भेजना चाहते थे। लेकिन अखिलेश यादव ने राजभर के बेटे के स्थान पर रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी को अधिक तरजीह दी। 

Read also: Gotabaya Rajapaksa Resign: श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे ने दिया राष्ट्रपति पद से इस्तीफा,पहुंचे सिंगापुर

इससे राजभर काफी नाराज हैं। दोनों के बीच खींचतान चल रही थी कि इसी बीच राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष प्रत्याशी यशवंत सिन्हा की मौजूदगी में हुई बैठक में अखिलेश यादव ने राजभर को बुलाना तो दूर रहा उनसे पूछा तक भी नहीं। वहीं अखिलेश यादव ने जयंत चौधरी को बुलाकर मंच साझा किया। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की इसी सियासी चाल ने आग में घी का काम कर दिया है। उसके बाद से राजभर खुलेआम अब अखिलेश पर हमले बोल रहे हैं। राजभर का कहना है कि बैठक में नहीं बुलाए जाने की वजह जानने के लिए उन्होंने सपा अध्यक्ष से मिलने की कोशिश की, लेकिन अखिलेश ने उनसे बात करना ही जरूरी नहीं समझा। हम राष्ट्रपति चुनाव में अपनी भूमिका अब अलग रहकर तय करेंगे।