UP Politics: यूपी से बाहर संगठन को मज़बूत करने में जुटीं मायावती

 
UP Politics

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तरह बहुजन समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती भी उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों पार्टी को मज़बूत करने के प्रयासों में जुटी हुई है, इसी के तहत आज उन्होंने एक बैठक की जिसमें बिहार, झारखंड,ओडिशा, व पश्चिम बंगाल के पार्टी के पदाधिकारी शामिल हुए. बैठक का मुख्य उद्देश्य सगठन को मजबूत बनाना और इन राज्यों में पार्टी का जनधार बढ़ाना रहा. इस बैठक में मायावती ने चारों राज्यों में संगठन के हालातों की जानकारी ली। 

इस मौके पर मायावती ने कहा कि बीजेपी का रवैया भी कांग्रेस जैसा ही रवैया है। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि यूपी में भाजपा सरकार नफरती,साम्प्रदायिक एजेंडे पर काम कर रही है। पूरे देश की जनता केंद्र की भाजपा सरकार की नीतियों से ट्रस्ट है और बढ़ती महंगाई, गरीबी और बेरोजगारी से परेशान है। मायावती ने कहा कि इन राष्ट्रीय मुद्दों पर संसद में बहस होना चाहिए, लेकिन सरकार ऐसा नहीं होने दे रही है। बसपा सुप्रीमो ने बिहार में शिक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि नितीश सरकार में यहाँ शिक्षा का बहुत बुरा हाल है। मायावती ने RJD को भी घेरते हुए कहा कि उसने भी कांग्रेस की तरह अपोज़ीशन  को कमजोर किया है। बंगाल और झारखंड सरकार पर भी मायावती ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाए।

Read also: Family Welfare Scheme: यूपी में अब सभी परिवारों का बनेगा फैमिली वेलफेयर कार्ड

गौरतलब है कि बसपा को पिछले विधानसभा चुनाव में सिर्फ एक सीट पर ही कामयाबी मिली थी जिसके बाद से पार्टी प्रमुख मायावती का सारा ध्यान सगठन को मजबूत करने की तरफ है और वह इस सिलसिले में लगातार बैठकें कर रही हैं। इधर समाजवादी पार्टी से तलाक़ मिलने के बाद सुभासपा की तरफ लोकसभा चुनाव में बसपा का साथ देने की बात  पर मायावती के भतीजे आकाश आनंद ने जो प्रतिक्रिया दी है उससे ओ पी राजभर को बड़ी निराशा हुई है.