UP Politics News: जल शक्ति राज्यमंत्री दिनेश खटीक के इस्तीफे से सियासी गलियारे में हड़कंप

 
UP Politics News:

मेरठ। प्रदेश के जल शक्ति राज्यमंत्री दिनेश खटीक के इस्तीफे के खुले पत्र से सियासी गलियारों में हड़कंप मच गया है। मंत्री ने सरकार की कार्यप्रणाली और विभागों में चल रहे भ्रष्टाचार को लेकर एक पत्र सरकार को लिखा है। प्रदेश में दूसरी बार पूर्ण बहुमत से सत्ता में काबिज भाजपा सरकार में एक बार फिर से कलह की खबर सामने आई है। जलशक्ति विभाग के राज्यमंत्री और हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक ने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिख सरकार की कार्यप्रणाली और विभाग में भ्रष्टाचार पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं।  उन्होंने अमित शाह को अपना त्यागपत्र भेज दिया। उन्होंने पत्र में लिखा कि 'नमामि गंगे' और 'हर घर जल योजना' में नियमों की अनदेखी और बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हो रहा है।

Read also: UP News: यूपी में अब ट्रांसजेंडरों को मिलेगी सरकार की वृद्धाश्रम सुविधाओं का लाभ

उन्होंने कहा कि जल शक्ति में बड़े पैमाने पर कर्मचारियों और अधिकारियों के स्थानांतरण में गड़बड़ी हुई है। इसके बाद जब उन्होंने विभागाध्यक्ष से जानकारी मांगी तो अभी तक कार्रवाई नहीं की है। राज्यमंत्री दिनेश खटीक आज बुधवार सुबह प्राइवेट गाड़ी से मेरठ स्थित गंगानगर आवास से दिल्ली निकल गए। उनसे इस बारे में पूछे जाने पर कहा कि सब ठीक है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और अमित शाह के कुशल नेतृत्व में दलितों और पिछड़ों को लेकर चलने के कारण भाजपा सरकार का गठन हुआ है। इस क्रम में दलित समाज से होने के कारण मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में जलशक्ति विभाग में राज्य मंत्री नियुक्त किया है। जिससे पूरा दलित समाज सरकार के प्रति उत्साहित एवं समर्पित है। इसके बाद जलशक्ति विभाग में दलित समाज का राज्य मंत्री होने के कारण मेरे किसी आदेश पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है और न मुझे किसी की सूचना दी जाती है। राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने विभाग  प्रमुख सचिव अनिल गर्ग पर सवाल खड़े किए हैं। गृहमंत्री अमित शाह को लिखे पत्र में उन्होंने लिखा है कर्मचारियों और अधिकारियों के तबादले की सूचना देने में भी भेदभाव किया गया। प्रमुख सचिव अनिल गर्ग उनका फ़ोन बीच में काट देते हैं। इसके अलावा विभाग में चलने वाली योजनाओं की कार्रवाई की सूचना भी मुझे नहीं दी जाती है।