देश को कमजोर प्रधानमंत्री की जरूरत है: ओवैसी

 
Asaduddin Owaisi

2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर मोर्चा बनाने में जुटे ममता बनर्जी और नितीश कुमार पर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने हमला बोला है. विशेषकर नितीश कुमार को अपने निशाने पर लेते हुए ओवैसी ने कहा कि भाजपा से इनके पुराने सम्बन्ध रहे हैं, यह गुजरात दंगों के दौरान भी भाजपा के साथ थे वहीँ ममता बनर्जी को भी आरएसएस का स्तुतिगान करने वाला बताया। इसी के साथ ओवैसी ने कहा कि मज़बूत प्रधानमंत्री देश ने बहुत देख लिए अब देश को कमज़ोर पीएम की ज़रुरत है.  

एआईएमआईएम प्रमुख ने इसी के साथ यह भी कहा कि वो चाहते हैं कि देश में खिचड़ी सरकार बने. नितीश पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि जदयू प्रमुख ने 2015 में भाजपा को छोड़ दिया, 2017 में वापस चले गए, 2019 में मोदी को जीत दिलाई और अब फिर उन्हें छोड़ दिया. ओवैसी सिर्फ नितीश और ममता पर ही नहीं रुके, उन्होंने आम आदमी पार्टी को भी अपने निशाने पर लिया और कहा कि AAP और भाजपा में कोई अंतर नहीं है. चुनाव के समय ये भाजपा विरोधी दिखाई देने लगते हैं उसके बाद फिर एक. ओवैसी ने जनता होशियार रहने को कहा. 

आने वाले राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावो को लेकर AIMIM प्रमुख ने खिचड़ी सरकार की वकालत की लेकिन वो यह नहीं बता सके कि इस खिचड़ी में क्या क्या पड़ना चाहिए। वहीँ प्रधानमंत्री मोदी का नाम लिए बिना ओवैसी ने कहा कि देश ने मज़बूत प्रधानमंत्री को देख लिया है और अब कमज़ोर पीएम की ज़रुरत है. असदुद्दीन की इस बयानबाज़ी को सियासी हलकों में भाजपा की तरफ से की जाने वाली बैटिंग बताया जा रहा. विश्लेषकों का कहना है कि ममता-नितीश-केजरीवाल को नाकारा बताकर दरअसल वह किसी को मज़बूत बताना चाहते है. बता दें कि AIMIM को हमेशा से भाजपा की बी टीम बताया जाता है.