अजय लल्लू को मिला वफ़ादारी का इनाम, CWC के विशेष आमंत्रित सदस्य बने

 
 Ajay Kumar Lallu

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अजय कुमार लालू को कांग्रेस पार्टी से उनकी लॉयल्टी का इनाम मिला और उन्हें कार्य समिति का विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया गया है. इसी के साथ यह भी तय हो गया कि यूपी के अगले अध्यक्ष के लिए अब उनका नाम दौड़ से ख़त्म हो गया. अजय कुमार लल्लू के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री और हरियाणा कांग्रेस की कद्दावर नेता कुमारी सैलजा के अलावा पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी को कांग्रेस कार्य समिति का सदस्य और पूर्व केंद्रीय मंत्री टी सुब्बारामी रेड्डी को कार्य समिति का स्थाई आमंत्रित सदस्य बनाया है  

Read also: Uttarakhand News Today: धामी सरकार से हाईकोर्ट ने पूछा चार धाम में कब लागू होगी एसओपी

इन नियुक्तियों के बारे में कांग्रेस महासचिव ने प्रेस को जारी एक पत्र में दी, यह सभी नियुक्तियां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने की हैं। यूपी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को प्रियंका गाँधी का करीबी बताया जाता है. लल्लू ने पिछले विधानसभा चुनाव में प्रियंका गाँधी के साथ हर मोर्चे पर ज़बरदस्त लड़ाई लड़ी. सरकार को सड़क पर घेरने के किसी भी मौके को उन्होंने नहीं छोड़ा। कहा जाता है कि अजय कुमार लल्लू ने जब से यूपी की कमान संभाली थी, कांग्रेस सड़कों पर नज़र आने लगी थी, लेकिन प्रियंका गाँधी और अजय कुमार लल्लू की तमाम मेहनतों के बावजूद पार्टी को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा, इसके बाद पार्टी आला कमान के आदेश पर चुनावी राज्यों वाले सभी पाँचों प्रदेशाध्यक्ष को इस्तीफे देना पड़ा था. 

Read also: Gujarat Chunavi Dangal: क्या माधव सिंह सोलंकी का पैतरा खत्म करेगा गुजरात मे कांग्रेस का वनवास?

वहीँ हरियाणा से सम्बन्ध रखने वाली कुमारी सैलजा सोनिया गांधी की करीबी मानी जाती हैं, कुछ समय पहले तक वो हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष थीं। वहीँ अभिषेक मनु सिंघवी मशहूर वकील होने के साथ ही पिछले कई बरसों से कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता की भूमिका बखूबी निभा रहे हैं। मनु सिंघवी राज्यसभा के सदस्य भी हैं।