UP News: यूपी में लोगों की धार्मिक भावनाएं सबसे ज़्यादा होती हैं आहत

 
UP News

पिछले कुछ सालों पर अगर नज़र दौड़ाई जाय देश में धार्मिक भावनाएं आहत होने का सिलसिला तेज़ी से बढ़ और इस मामले में उत्तर प्रदेश बाज़ी मारे हुए जहाँ पर सबसे ज़्यादा लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत होती है. यह आंकड़ा किसी और नहीं बल्कि सरकार का है. दरअसल TMC सांसद मिमी चक्रवर्ती  के एक सवाल के जवाब में केंद्रीय गृह राजयमंत्री नित्यानंद राय ने लिखित में ये जानकारी उपलब्ध कराई जिसके अनुसार 2018 से 2020 तक धार्मिक भावनाएं आहत करने , धर्म, नस्ल और जन्म स्थान के आधार पर समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के आरोप में सबसे ज़्यादा 628 लोगों की गिरफ्तारियां उत्तर प्रदेश में हुईं।  

इन मामलों में कुल 4,794 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनमें से 1,716 लोगों को 2018 में, 1,315 2019 में और 1,763 लोगों को 2020 में गिरफ्तार किया गया। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने मंगलवार को लोकसभा में बताया कि 28 राज्यों और आठ केंद्र शासित प्रदेशों में यूपी के बाद तमिलनाडु में 613, केरल में 552 और आंध्र प्रदेश में 387 गिरफ्तारियां हुई हैं।  

Read also: तानाशाह के हर फरमान से लड़ते हुए हमें आगे बढ़ना है: राहुल

नित्यानंद राय ने बताया कि ऐसे मामलों में असम ने 351 गिरफ्तारियों की सूचना दी, जबकि मणिपुर से 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा तेलंगाना, गुजरात और राजस्थान जैसे राज्यों में भी काफी संख्या में मामले सामने आए। इन तीन वर्षों में जम्मू-कश्मीर में कुल 34 गिरफ्तारियां हुईं। एनसीआरबी की ओर से जारी आंकड़ों को साझ करते हुए केंद्रीय गृह राजयमंत्री ने बताया कि इस मामले में लद्दाख, पुडुचेरी, लक्षद्वीप और चंडीगढ़ केंद्र शासित प्रदेशों से एक भी गिरफ्तारी नहीं हुई।