Meerut News: सोतीगंज पर पुलिस ने कसा शिकंजा, हरकत से बाज नहीं आ रहा शातिर कबाड़ी गल्ला

 
Meerut Police

मेरठ। उत्तरी भारत के सबसे बड़े वाहन चोर बाजार मेरठ के सोतीगंज में भले ही कबाड़ियों ने अपना धंधा बदल लिया हो। लेकिन चोरी के वाहन अभी भी गुपचुप तरीके से काटे जा रहे हैं और बेचे जा रहे हैं। सोतीगंज वाहन चोर बाजार के कुख्यात कबाड़ी 
हाजी गल्ला के घर पर पुलिस ने देर रात दबिश दी। बताया जा रहा है कि कबाड़ी गल्ला चोरी की गाड़ियों को काटने से बाज नहीं आ रहा।  इस दौरान पुलिस को घर पर ना तो हाजी गल्ला मिला और ना उसके दोनों बेटे। पुलिस के मुताबिक कुछ दिन पूर्व एक चोरी की सेंट्रो कार बैटरी और अन्य वाहन पार्ट्स बरामद किए गए थे। जिसमें हाजी गल्ला और उसके बेटे को नामजद करते हुए रिपोर्ट दर्ज की गई थी। वहीं इससे पहले पुलिस ने 24 मई को वाहन चोर और कबाड़ी जीशान पव्वा सहित 18 कबाड़ियों पर गैंगस्टर लगाते हुए  मुकदमा दर्ज किया था। जिसमें पुलिस ने 14 कबाड़ियों को जेल भेज दिया था।

Also read: " गजब! गायों की ऐसी सेवा देख हुए हैरान,11 कुंटल आम रस में ड्राईफ्रूटस डालकर पिलाया

इस मामले में हाजी गल्ला और उसका बेटा सहित चार आरोपी फरार चल रहे थे। पुलिस की दबिश के दौरान आरोपी घर पर नहीं मिले। एएसपी कैंट चंद्रकांत मीणा ने बताया कि सभी नामजद आरोपियों को जेल भेजा जाएगा। बता दें कि मेरठ का सोतीगंज कबाड़ी बाजार पूरे देश में चोरी के वाहन कटान के लिए बदनाम था। मेरठ के इस बाजार की छोटी सी गलियों में 24 टायरा ट्रक 24 मिनट में गायब कर दिया जाता था। 2017 में जब प्रदेश में भाजपा की सरकार आई तो सोतीगंज पर शिकंजा कसना शुरू हुआ। आज हालात ये हैं कि सोतीगंज के 90 प्रतिशत कबाड़ियों ने अपने धंधे बदल दिए हैं। हालांकि चोरी की गाड़ियों को काटने का काम अब भी कहीं न कहीं चोरी छिपे हो रहा है। पुलिस इन बाजार पर ड्रोन तक से निगरानी कर रही है। वहीं अब तक सोतीगंज के कबाडियों की कई सौ करोड़ रुपये की संपत्ति भी पुलिस जब्त कर चुकी है।